Mulank Bhagyank in Numerology | अंकशास्त्र में मूलांक भाग्यांक जानने की विधि

Mulank Bhagyank in Numerology | अंकशास्त्र में मूलांक भाग्यांक जानने की विधि व्यक्ति का अंको से सम्बन्ध जन्म से लेकर मृत्युपर्यन्त तक बना रहता है इसमें लेश मात्र भी संदेह नहीं है। जब हम जन्म लेते है तो वही तारीख सभी कार्यो के लिए लिखा जाता है यथा स्कूल में एडमिशन, नौकरी में प्रवेश और रिटायरमेंट इत्यादि का निर्धारण, सब कुछ जन्म तारीख से जुड़ा होता है।

हमारे जन्म तारीख में अंक है, हमारे नाम के शब्द में अंक छुपा हुआ है हमारे काम या व्यवसाय के नाम में भी अंक छुपा है।  किसी भी दिन या माह में कोई घटना विशेष घटती है तो वह भी अंततः एक अंक में सिमट जाती है। जैसे भारतीय संसद पर हमला अब 26 / 11 के नाम से जाना जाता  है। अमेरिका में WTO पर आतंकवादी हमला 9 /11 के नाम से जाना जाता है। आवश्यकता है अंकशास्त्र  का वैज्ञानिक तथा प्रायोगिक विश्लेषणात्मक अध्ययन का न कि अंधविश्वास का भ्रम फैलाकर लोगो के अंदर इस विद्या के प्रति नकारात्मक सोच विकसित करने का।

Numerology

अंकशास्त्र के अनुसार जन्मांक भाग्यांक नामांक तथा स्तूपांक निकालने की विधि | Calculation of Janmank Bhagyank Namank and Stupank according to Numerology

शब्द के लिए निर्धारित अंक सारणी | Table of alloted Number for word

Numerology

जन्मांक | मूलांक  निकालने की विधि

किसी भी व्यक्ति के जन्म दिनांक के अंकों का जो योग होता है वह जन्मांक होता है।  जैसे –  किसी व्यक्ति का जन्म 26/03/2006 है। इस प्रकार स्पष्ट है कि जातक के जन्म दिन की तारीख 26 है। 26  में दो अंक है  2 और 6 अतः जन्मांक निकालने के लिए सर्वप्रथम हमें इन दोनों अंको को जोड़ देना चाहिए।  जोड़ने के बाद जो अंक प्राप्त होता है वह अंक जन्मांक कहलाएगा ।  अब देखें —

26= 2+6 = 8 ,

इस प्रकार से इस व्यक्ति का “जन्मांक”  8 (Number) होगा 

भाग्यांक निकालने की विधि

किसी भी व्यक्ति के जन्म दिनांक के सभी अंकों  का योग भाग्य मूलांक अथवा “भाग्यांक” कहलाता है।  जैसे – किसी व्यक्ति की जन्म तारीख  26/03/2006 है तो उसका “भाग्यांक” निकालने के लिए हमें दिनांक के समस्त अंको को जोड़ देना चाहिए उसके बाद जो मूल अंक आएगा वह “भाग्यांक” कहलाता है।  अब देखे उपर्युक्त दिनांक का “भाग्यांक” कैसे निकालते है —

 2+6+0+3+2+0+0+7 = 20 = 2+0 = 2

इस प्रकार से इस व्यक्ति का “भाग्यांक” 2 होगा ।

नामांक निकालने की विधि 

किसी भी व्यक्ति का नामांक उसके नाम के अक्षरों का योग होता है, जैसे की किसी व्यक्ति का नाम

दीपक शर्मा  DEEPAK SHARMA  है तो उसके नाम के अक्षरों का योग पाइथागोरस की टेबल के अनुसार , D=4, E=5, E=5,P=7, A=1, K=2, |  S =1, H=8, A=1, R=9, M=4, A=1,

तब  4+5+5+7+1+2+1+8+1+9+4 +1  = 48 = 4+8 = 12 तब 1+2 =  3 ,

इस प्रकार से व्यक्ति का “नामांक” 3 (Number) होगा ।

स्तूपांक निकालने की विधि

स्तूपांक निकालने के लिए प्रथम अंक को दूसरे अंक से गुणा करते है पुनः दूसरे अंक को तीसरे अंक से, तथा तीसरे अंक को चौथे अंक से इसी प्रकार लगातार गुणा करके जो अंक आता है हम उसे लिखते जाते है। स्तूपांक निकालने में अंतिम अंक का गुणा नहीं करते है अर्थात अंतिम अंक छोड़ देते है । यही क्रम नीचे भी जारी रखा जाता है और अंत में जो अंक बचता है वही स्तूपांक होता है।

DEEPAK SHARMA

455712181941

2787228899

52254719

1512817

55278

715

7

इस प्रकार इस जातक के लिए  7 अंक (Number) स्तूपांक हुआ 

   Secret of Mulank Bhagyank 1 | मूलांक भाग्यांक 1 का रहस्य Secret of Mulank Bhagyank 1 | मूलांक भाग्यांक 1 का रहस्य m3-min m4-min m5-min m6-min m7-min m8-min m99-min

Contact for Astro Services


What’s Numerology | अंकशास्त्र | अंकज्योतिष | अंक विज्ञान

Mulank Bhagyank in Numerology | अंकशास्त्र में मूलांक भाग्यांक जानने की विधि

Secret of Mulank Bhagyank 1 | मूलांक भाग्यांक 1 का रहस्य

Secret of Mulank Bhagyank 2 | मूलांक भाग्यांक 2 का रहस्य

Moolank 3 | Secret of Bhagyank 3 | मूलांक भाग्यांक जन्मांक 3 का रहस्य

Moolank 4 | मूलांक 4 | भाग्यांक जन्मांक चार के जीवन का रहस्य

Moolank 5 | मूलांक 5 | भाग्यांक जन्मांक पांच के जीवन का रहस्य

Moolank 6 | मूलांक 6 | भाग्यांक जन्मांक षष्ठ के जीवन का रहस्य

Moolank 7 | मूलांक 7 | भाग्यांक जन्मांक सात के जीवन का रहस्य

Moolank 8 | मूलांक 8 | भाग्यांक जन्मांक आठ के जीवन का रहस्य

Moolank 9 | मूलांक 9 | भाग्यांक जन्मांक नौ के जीवन का रहस्य

 

2 thoughts on “Mulank Bhagyank in Numerology | अंकशास्त्र में मूलांक भाग्यांक जानने की विधि”

Leave a Comment

Your email address will not be published.