Mars Transit in Leo 2023 | मंगल ग्रह का राशि परिवर्तन 2023

Mars Transit in Leo 2023 | मंगल ग्रह का राशि परिवर्तन 2023Mars Transit in Leo 2023 | मंगल ग्रह का राशि परिवर्तन 2023 . वैदिक ज्योतिष में मंगल क्रूर ग्रह के रूप स्थित है। यह व्यक्ति के मन तथा बुद्धि को तीक्ष्ण करने वाला ग्रह है। इसके प्रभाव से मनुष्य अपने जीवन यात्रा में साहसी कार्य को अंजाम देता है क्योकि मंगल साहस का कारक ग्रह है। इस ग्रह का राजकीय कार्य में भी दखल है इसके प्रभाव से जातक सरकारी नौकरी भी करता है।
मंगल अपने नीच राशि कर्क से 1 जुलाई 2023 को सिंह राशि में प्रवेश करेगा और इसी राशि में वे 17 अगस्त 2023 तक भ्रमण करते रहेगा। इस राशि में मंगल सर्वप्रथम केतु के मघा नक्षत्र में भ्रमण करेगा उसके बाद शुक्र तथा गुरु के पूर्व फाल्गुन और उत्तर फाल्गुन नक्षत्र में भ्रमण करेगा ।

आइये जानते है कि मंगल का सिंह राशि में गोचर से जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा भाई-बंधू, धन, माता-पिता, शिक्षा, व्यवसाय,परिवार, वैवाहिक जीवन इत्यादि पर क्या-क्या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि | Aries Sign

मेष राशि वालो के लिए मंगल ( Mars ) ग्रह गोचर में  5 वें भाव में होगा। (पांचवें भाव में मंगल का फल)  मंगल का गोचर आपके लिए शुभ फल प्रदान करने आ रहा है  क्योकि मंगल अपने नीच राशि कर्क से मित्र राशि सिंह में गोचर करेगा। इस समय आपको अपने प्रयास से किये गए कार्यो में सफलता मिलेगी। आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। यदि कोई पारिवारिक विवाद चल रहा है तो वह खत्म होगी। इनकम के नए स्रोत खुलेंगे। धन लाभ के प्रबल संकेत है। कोई नया कार्य प्रारम्भ कर सकते है। जो जातक अपने वर्तमान कार्यक्षेत्र में बदलाव चाहते है उनके लिए यह अच्छा समय हो सकता है। छात्र नए कोर्स में एडमिशन ले सकते है। विदेश का योग बन सकता है।

वृष राशि | Taurus Sign 

मंगल इस समय गोचर में अपने पराक्रम स्थान को छोड़कर आपके चतुर्थ भाव अथवा सुख भाव में प्रवेश करेंगे। ( चतुर्थ भाव में मंगल का फल )  घर में परिवर्तन हो सकता है। घर से दूर यात्रा का योग बन रहा है। आपके घर में रेनोवेशन कार्य हो सकता है। मंगल चतुर्थ भाव से कर्म तथा लाभ भाव को देख रहा है अतः घर से कोई व्यवसाय शुरू कर सकते है।  नए व्यसाय शुरू करने के लिए शुभ समय है। पैतृक संपत्ति से लाभ मिलने के संकेत है। शादी के लिए भी शुभ समय है। दाम्पत्य  जीवन तथा पारिवारिक सदस्यों के मध्य तनाव संभव है। अपने गुस्से पर काबू रखे। यदि नए नौकरी की तलाश में है तो प्रयास तेज कर दीजिये सफलता जरूर मिलेगा ।

मिथुन राशि | Gemini Sign 

मिथुन राशि वालो के लिए मंगल का राशि परिवर्तन तृतीय भाव में हो रहा है ( तृतीय भाव में मंगल का फल ) जो आपके पराक्रम का स्थान है। इस समय आप अपने पराक्रम रुपी कर्मो के बल से भाग्य का निर्माण करेंगे। अतः  आलस्य  को त्याग कर अपनी पूरी एनर्जी से कार्य प्रारम्भ कर दे। अपने छोटे भाई बहन से सम्बन्ध में कुछ कड़वाहट आ सकती है। व्यवसाय में लाभ होगा। व्यवसाय में लेबर की दिक्क्त हो सकती है। कुल मिलाकर मंगल का राशि परिवर्तन शुभ कार्य होने का संकेत दे रहा है। इस दौरान लघु यात्रा संभव है वह क्यों न विदेश यात्रा ही हो। स्वास्थ्य में ब्लड प्रेशर की शिकायत हो सकती है।

कर्क राशि | Cancer Sign 

मंगल ग्रह ( Mars Planets)  का यह परिवर्तन कर्क राशि के जातक के धन भाव अथवा दूसरे भाव में हो रहा है ( दूसरे भाव में मंगल का फल )अतः इस राशि के जातको को धन प्राप्ति के योग बन रहा है। वाणी दोष के कारण यह परिवर्तन वाद-विवाद का कारण बन सकता है। नेत्र  विकार या चोट लग सकती है अतः सावधानी रखे।  पैतृक सम्पत्ति को लेकर विवाद हो सकता है। संतान को नौकरी लग सकती है। पारिवारिक जीवन में तू तू मै में हो सकती है।

सिंह राशि | Leo Sign

सिंह राशि के लिए मंगल नीच राशि से, अपने मित्र राशि सिंह में प्रवेश करेगा। मंगल आपके लग्न अर्थात पहले भाव में होगा (प्रथम भाव में मंगल का फल)  इस कारण आपके अंदर क्रोध का संचार बढ़ेगा। शरीर में चोट लग सकता है। रुके हुए कार्य सम्पन्न होंगे। पिता से आर्थिक सहायता मिल सकती है। आपके भाग्य का उदय होगा। आप जमीन-जायदाद की खरीद बिक्री करेंगे।  सरकारी क्षेत्र में कार्य कर रहे है तो आपको अधिकारियो से लाभ मिल सकता है। व्यवसायिक दृष्टिकोण से भी मंगल का गोचर  आपके लिए फायदेमंद होगा। दाम्पत्य जीवन में कड़वाहट आ सकती है।

कन्या राशि | Virgo Sign

कन्या राशि के लिए मंगल गोचर में 12वें अर्थात व्यय स्थान में होगा। (बारहवें भाव में मंगल का फल)  मंगल का राशि परिवर्तन आपकी राशि के लिए शुभ नहीं है। बीमारी या फिर किसी दुर्घटना के कारण आपको हॉस्पिटल का चक्कर लग सकता है अतः संभल कर रहने की जरुरत है। पैतृक प्रॉपर्टी को लेकर विवाद हो सकता है। भाई बहन के साथ मनमुटाव हो सकता है। शारीरिक परिश्रम का व्यय होगा। केश मुकदमा के कारण आर्थिक एवं मानसिक परेशानी का अनुभव कर सकते है। लड़ाई-झगड़ा से दूर रहे तो ज्यादा अच्छा रहेगा। घर में संतान को लेकर मानसिक संताप हो सकता है।

तुला राशि | Libra Sign 

तुला राशि के लिए मंगल का गोचर लाभ भाव अथवा एकादश भाव में हो रहा है अतः  इस राशि वालों के लिए धन प्राप्ति का योग बनेगा। (एकादश भाव में मंगल का फल) मंगल इस राशि के लिए धन भाव का स्वामी भी है अतः आर्थिक लाभ तो होगा ही होगा।  यदि आप अविवाहित है तो प्यार हो सकता है या शादी हो सकती है।  यदि मंगल की दशा चल रही है तो संतान की उन्नति से संतान के साथ साथ आपका भी मान-सम्मान बढ़ेगा। जो स्त्री  अभी-अभी गर्भाधारण की है उन्हें सावधानी बरतने की जरुरत है।

वृश्चिक राशि | Scorpio Sign 

वृश्चिक राशि के लिए मंगल 10वें स्थान में गोचर करेगा  (10वें भाव में मंगल का फल) ज्योतिष में यह स्थान कर्म स्थान कहलाता है। मंगल यहाँ लग्न का स्वामी होकर कर्म स्थान में गोचर करेगा निश्चित ही रुका हुआ कार्य पूरा होगा तथा कार्य के उत्साह बढ़ेगा। आपके कार्य का स्थायीकरण होगा। आपका प्रमोशन हो सकता है। कर्मक्षेत्र होने के कारण करियर में जोश और जुनून आपको सफलता की सबसे ऊपरी मंजिल तक ले जाएगा। तुला राशि वालों के लिए भविष्य में पैसों की कोई कमी नहीं रहेगी। नई नौकरी की तलाश में है तो आपकी  इच्छापूर्ति होगी।

धनु राशि | Sagittarius Sign

धनु राशि के लिए मंगल का गोचर आपके नवम अर्थात भाग्य स्थान में हो रहा है। (नवम भाव में मंगल का फल) इस राशि के लिए मंगल  व्यय तथा लक्ष्मी भाव का स्वामी है। संतान के ऊपर व्यय करना पर सकता है।  मंगल का गोचर आपके जीवन में अच्छे परिणाम का सूचक है। यदि आप उच्च शिक्षा के लिए विदेश में अध्ययन करने की योजना बना रहे है तो शुभ संकेत है। लंबी दूरी की यात्रा आपके लिए लाभकारी साबित होगी। परिवार का सहयोग मिलेगा। संतान के सहयोग से भाग्योदय होगा। पिताजी के ऊपर खर्च करने का योग बन रहा है उनका स्वास्थ्य खराब हो सकता  है।

मकर राशि | Capricorn Sign 

मकर राशि के जातक के लिए मंगल का गोचर अष्टम अर्थात मृत्यु, अवरोध, जुआ इत्यादि भाव में हो रहा है जिसके कारण यह परिवर्तन इस राशि वालों के लिए ज्यादा शुभ नहीं है। अचानक लाभ या नुकसान दोनों हो सकता है जिसका आपको अंदाजा भी नहीं होगा। कार्यक्षेत्र में परेशानी हो सकती है। कार्यो में रुकावट आएगा इससे आप अपना धैर्य न खोये अपने आप आपका काम हो जाएगा ।  अष्टम भाव में मंगल का फल

धन हानि के साथ आपके साथ कोई दुर्घटना घट सकती है। यदि बवासीर की बीमारी पहले से है तो बढ़ सकती है। प्रॉपर्टी को लेकर कोई समस्या आ सकती है स्थान परिवर्तन हो सकता है। लाभ की दृष्टि से प्रॉपर्टी में कोई पैसा न लगाए तो अच्छा रहेगा।

कुम्भ राशि | Aquarius Sign

कुंभ राशि के जातको के लिए मंगल का गोचर सप्तम भाव में हो रहा है। (सप्तम भाव में मंगल का फल)  सप्तम भाव से मंगल कर्म स्थान लग्न तथा धन भाव को देख रहा है अतः इस दौरान आप नई नौकरी ज्वाइन कर सकते है तथा यदि नौकरी कर रहे है तो आपकी पदोन्नति हो सकती है। धन लाभ होगा। वैवाहिक जीवन में जीवनसाथी से किसी बात को लेकर  मनुमटाव हो सकता है। आपका गुस्सा बढ़ेगा अतः अपने क्रोध पर नियंत्रण रखें तथा जितना हो सके बहसबाज़ी से बचें अन्यथा लेने के देने पड़ जायेंगे । आपके पिताजी को भी धन लाभ का योग बन रहा है। माताजी के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है।

मीन राशि | Pisces Sign 

मीन राशि वाले जातक के लिए मंगल गोचर में मीन राशि से षष्ठ भाव में होगा ( षष्ठ  भाव में मंगल का फल) तथा अपनी राशि से पांचवें और दसवें भाव में होगा।  षष्ठ भाव में होने से आपको सफलता प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है। अपने भाग्य की वृद्धि के लिए यदि किसी से आर्थिक मदद लेना पड़े तो उसमे कोई दिक्क्त नहीं होगी परन्तु सोच समझकर ही ले। साथ ही किसी पुराने कर्ज के बढ़ने की संभावना भी बन सकती है।

धन हरण भी हो सकता है कीमती सामान पर विशेष ध्यान देने की जरुरत है। कार्य को लेकर अपने शहर से दूसरे शहर में भी जाना पर सकता है।

दाम्पत्य जीवन में कुछ परेशानी आ सकती है जीवनसाथी के प्रति गुस्सा बढ़ सकता है। आपसी विशवास तथा सहमति से ही कोई कार्य करने में भलाई होगी अपने धैर्य का पूर्ण परिचय दे।

दांत में पायरिया ( खून आना) की शिकायत हो सकती है। यदि ब्लड प्रेशर की शिकायत है तो उस पर कण्ट्रोल करना अत्यावश्यक है नहीं तो परेशानी में पर सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.