Ketu Transit 2022 | केतु गोचर 2022 का राशियों पर प्रभाव

Ketu Transit 2022 | केतु गोचर 2022 का राशियों पर प्रभावKetu Transit 2022 | केतु गोचर 2022 का राशियों पर प्रभाव वैदिक ज्योतिष में केतु एक छाया ग्रह के साथ साथ अशुभ ग्रह के रूप में प्रतिष्ठित है। जब भी इस ग्रह की दशा या अन्तर्दशा आती है तो व्यक्ति के स्वाभाविक सोच तथा कार्य में किसी न किसी रूप से परिवर्तन कर देता है। यह व्यक्ति के मन तथा बुद्धि को अपने स्वभाव के अनुसार परिवर्तित करने की शक्ति रखता है। केतु ग्रह ज्ञान, वैराग्य, मोक्ष, कष्ट, बिमारी तर्क, इत्यादि का कारक ग्रह है। वैसे यह ग्रह अशुभ के साथ साथ शुभ फल भी प्रदान करता है।

केतु ग्रह 17 मार्च 2022 से लेकर 16 मार्च 2022 तक तुला राशि में भ्रमण करते रहेगा। आइये जानते है कि केतु का वृश्चिक राशि में आने से व्यक्ति के जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा व्यवसाय, धन, माता-पिता, शिक्षा, परिवार, भाई-बंधू, दाम्पत्य जीवन इत्यादि पर क्या-क्या प्रभाव पड़ेगा।

केतु गोचर का फल जातक को लग्न तथा चंद्र राशि दोनों से देखनी चाहिए। जैसा कि आप सब जानते हैं कि चन्द्रमा कुंडली ( Birth Chart ) मे जिस राशि में स्थित होता है वही उस व्यक्ति का राशि होता है। जैसे यदि आपकी कुंडली मे चन्द्रमा सिंह राशि ( Leo Sign) में है तो आप की राशि सिंह होगी ऐसा जानना चाहिए। इस समय वृष राशि वालो के लिए केतु का गोचर अष्टम भाव में होगा।

आइये हम यह जानने का प्रयास करते हैं कि वर्ष 2022 -23 में केतु के गोचर से आपकी तथा विभिन्न राशियों पर क्या प्रभाव पड़ने वाला है।

मेष राशि पर प्रभाव

केतु गोचर में अष्टम भाव में भ्रमण कर रहा है । केतु गोचर के फलस्वरूप आध्यात्मिकता और जादू-टोने जैसी विद्या के प्रति आपका झुकाव बढ़ेगा। नौकरी तथा व्यवसाय में कोई न कोई नयापन आएगा। धन लाभ का योग बन रहा है। और पढ़े.

वृष राशि पर प्रभाव

वृष राशि वाले जातक के लिए केतु सातवें भाव में गोचर कर रहा है अतः यदि पार्टनरशिप में कार्य कर रहे है तो पार्टनरशिप टूट सकता है धैर्य से कोई निर्णय ले।  और पढ़े..

मिथुन राशि पर  प्रभाव

मिथुन राशि वाले जातक के लिए यह गोचर छठे भाव में होगा। यदि इस समय कोई केश मुकदमा चल रहा है तो केश में फैसला आपके पक्ष में आ सकता है। विवाद और झगड़ों से बचे यदि विवाद चल रहा है तो समझौता होने का पूर्ण संकेत मिल रहा है।  और पढ़े.

कर्क राशि पर प्रभाव

कर्क राशि वाले व्यक्ति के लिए यह गोचर पांचवे भाव में हो रहा है। प्रेम सम्बन्ध में कड़वाहट आएगी। धार्मिक अभिरुचि बढ़ेगी। बच्चो का स्वास्थ्य ख़राब हो सकता है। और पढ़े..  

 सिंह राशि पर प्रभाव

केतु सिंह राशि से चतुर्थ भाव में भ्रमण करेगा। इस गोचर के परिणामस्वरूप आपके मन में आध्यात्म के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण का संचार होगा। माता का स्वास्थ्य खराब हो सकता है। किसी बात को लेकर दिल में घबराहट बनी रहेगी। और पढ़े.  

कन्या राशि पर प्रभाव

केतु के गोचर से आपके अंदर साहस की वृद्धि होगी परिणामस्वरूप आत्म विश्वास दृढ होगा। आप अपने परिश्रम से अपने लक्ष्यों की प्राप्ति तथा भाग्य वृद्धि के लिए हर संभव प्रयास करेंगे। और पढ़े..

तुला राशि पर प्रभाव

केतु गोचर से वाणी विकार तथा नेत्र दोष हो सकता है। धन हानि भी हो सकती है पूरी तरह से सतर्क रहे नहीं तो नुकसान हो सकता है। ज्वेलरी की चोरी हो सकती है।  और पढ़े..

वृश्चिक राशि पर प्रभाव

वृश्चिक राशि में केतु का गोचर से निर्णय लेने की क्षमता में कमी आएगी। आपका स्वास्थ्य ख़राब हो सकता है। पैरो में दर्द की शिकायत के ज्यादा चांस है। आपको पता नहीं चलेगा की आपके साथ क्या हो रहा है। और पढ़े..   

धनु राशि पर प्रभाव

धनु राशि के जातक के लिए केतु व्यय भाव में गोचर कर रहा है अतः दाम्पत्य जीवन में तनाव उत्पन्न हो सकता है वह भी शारीरिक सुख को लेकर। एक दूसरे के भावना का पूर्ण ख्याल रखे सब ठीक हो जाएगा।  और पढ़े..   

 मकर राशि पर प्रभाव

मकर राशि वाले व्यक्ति की कुंडली में केतु लाभ भाव में गोचर कर रहा है अतः आपकी इच्छापूर्ति होगी परन्तु धोड़ा इन्तजार करना पड़ेगा। कोई नया कार्य भी प्रारम्भ कर सकते है करे परन्तु अचानक कोई फैसला न करे तो अच्छा रहेगा। और पढ़े —    

कुम्भ राशि पर प्रभाव

केतु कुम्भ राशि वाले जातक के कुंडली में दसवें अर्थात कर्म भाव में गोचर कर रहा है। यह भाव आपके व्यवसाय से जुड़ा है। अतः केतु गोचर के परिणामस्वरूप व्यावसायिक कार्यो में अचानक परिवर्तन हो सकता है।  और पढ़े..

मीन राशि पर प्रभाव

मीन राशि के जातक की कुंडली में केतु गोचर में नौंवे भाव में भ्रमण कर रहा है यह भाव भाग्य से जुड़ा हुआ है। अतः केतु के गोचर से भाग्य को लेकर जद्दोजहद शुरू कर देंगे। इस समय पिता का सेहत ख़राब हो सकता है। और पढ़े..   

Leave a Comment

Your email address will not be published.