Jupiter transit in Eleventh house | एकादश भाव में गुरु गोचर फल

Jupiter transit in Eleventh house | एकादश भाव में गुरु गोचर फल गुरु गोचर में यदि एकादश भाव में विचरण कर रहे है तो जातक को लाभ ही लाभ। ज्योतिष शास्त्र ( Astrology ) में गुरु शुभ ग्रह हैं यह सभी जानते हैं। गुरु ( Jupiter ) की उपस्थिति और दृष्टि दोनों अमृत तुल्य है। देवगुरू ज्ञान, धन,आध्यात्म एवं संतान के कारक हैं। गुरु सभी भाव में स्थित होकर भिन्न भिन्न फल प्रदान करते हैं।

गोचर में बृहस्पति एक राशि में लगभग 13 महीने तक भ्रमण करते हैं। इन 13 महीनो में सामान्यतः व्यक्ति को शुभ फल ही प्रदान करते हैं। जन्मकुंडली में गुरु 6, 8 और 12 भाव का स्वामी हैं तो अवश्य ही फल में कमी हो सकती है।

Jupiter transit

गुरू गोचर का शुभ एवम अशुभ फल जन्मकुंडली में ग्रहों की स्थिति के अनुसार ही मिलता है। जातक की जन्मराशि अर्थात् जन्मकालीन चंद्रमा जिस राशि में होते हैं, गोचर में गुरु उस राशि से दूसरे, पाँचवें, सातवें, नवें, तथा ग्यारहवें भाव में जब-जब भ्रमण करते हैं, गुरु शुभफल प्रदान करते हैं। इसके अतिरिक्त बृहस्पति का अन्य भावों से गोचर उतना शुभ नहीं होता है। यहाँ पर गुरु के गोचर का फल लग्न से गुरु जिस भाव में स्थित है उसके आधार पर दिया गया है।

जानें ! इस समय, गुरु/बृहस्पति गोचर में किस भाव में है।

लग्न वा राशि20 नवम्बर 2020 से 05  अप्रैल 2021 तक06  अप्रैल 2021 से 13  सितम्बर 202114  सितम्बर 2021 से 19  नवम्बर 202120 नवम्बर 2021 से 12 अप्रैल 2022
मेषदशम भावएकादश भावदशम भावएकादश भाव
वृषनवम भावदशम भावनवम भावदशम भाव
मिथुनअष्टम भावनवम भावअष्टम भावनवम भाव
कर्कसप्तम भावअष्टम भावसप्तम भावअष्टम भाव
सिंहषष्ठ भावसप्तम भावषष्ठ भावसप्तम भाव
कन्यापंचम भावषष्ठ भावपंचम भावषष्ठ भाव
तुलाचतुर्थ भावपंचम भावचतुर्थ भावपंचम भाव
वृश्चिकतृतीय भावचतुर्थ भावतृतीय भावचतुर्थ भाव
 धनुदूसरा  भावतृतीय भावदूसरा  भावतृतीय भाव
मकरप्रथम  भावदूसरा  भावप्रथम  भावदूसरा  भाव
कुम्भबारहवां  भावप्रथम  भावबारहवां  भावप्रथम  भाव
मीनएकादश भावबारहवां  भावएकादश भावबारहवां  भाव

Jupiter transit in 11th house | ग्यारहवें भाव में गुरु गोचर फल

आइये जानते है कि देवगुरु आपको क्या फल देने वाले है। गुरु गोचर में जन्मकुंडली के लग्न से एकादश भाव में भ्रमण ( Jupiter transit in Eleventh house ) कर रहे हैं तब आपके जीवन के विभिन्न क्षेत्रों यथा – भाई-बंधू, ज्ञान, संतान, माता-पिता, शिक्षा,धन, परिवार, व्यवसाय, वैवाहिक जीवन इत्यादि पर क्या प्रभाव पड़ेगा इसकी जानकारी इस लेख के माध्यम से दिया जा रहा है।

यदि आप कुम्भ लग्न या राशि के जातक है तो इस समय गुरु आपके लाभ स्थान में गोचर कर रहे है परन्तु 20 नवम्बर 2020 से यही गुरु का गोचर आपके बारहवे स्थान में होगा। ग्यारहवे भाव में गुरु के गोचर से आपकी आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी। लाभ की दृष्टि से इस भाव में गुरु के गोचर का फल आपके लिए फायदेमंद रहेगा।
आय के नए नए स्रोत बनेंगे जिससे आपको धन का लाभ होगा। व्यापार एवं कारोबार में आशानुकूल वृद्धि होगी। कोई न कोई नया कार्य का प्रारम्भ हो सकता है। ब्याज ( Interest ) से भी लाभ हो सकता है। यदि कोई केस मुकदमा है तो उसमे आपको लाभ मिल सकता है। यदि नौकरी कर हैं तो कार्य स्थल पर आपको मान सम्मान बढ़ जायेगी। आपको पदोन्नति ( Promotion ) का लाभ मिल सकता है।

Jupiter transit
दाम्पत्य जीवन सुखी होगा। यदि संतान की इच्छा रखते है तो संतान के लिए अति उत्तम समय है। बीएस संतान के लिए मन बनाने का है। यदि अभी नहीं तो फिर दो साल तक इन्तजार करना पड़ेगा। अब फैसला आपको लेना है। भाई – बहन के रिश्ते मजबूत होंगे तथा समय समय पर उनकस पूरा सहयोग मिलेगा। लघु यात्रा का योग है लघु यात्रा होगी ही होगी इसमें कोई संदेह नहीं है। मामा पक्ष से अशुभ समाचार मिल सकता है। माता के स्वास्थ्य को लेकर आप चिंतित हो सकते है।

q-min

बारहवें भाव में गुरु गोचर का फल

abot

3 thoughts on “Jupiter transit in Eleventh house | एकादश भाव में गुरु गोचर फल”

  1. vijay dhoundiyal

    I request you to exmine my son horoscope and know the future or other details as per horoscope. I will pay your consultancy charges.

Leave a Comment

Your email address will not be published.