guru pushya yoga in 2020-21 | गुरुपुष्य योग 2020-21

guru pushya yoga in 2020-21 | गुरुपुष्य योग 2020-21

guru pushya yoga in 2020-21 | गुरुपुष्य योग 2020-21. “Gurupushya Yoga” is the most auspicious yoga in astrology. According to the Indian Vedic astrology, if you start any work in this yoga your work will be completely successful so that any new tasks should be started in this yoga.

What should do in Guru Pushya Yoga

In this yoga, you can acquire higher education, get wealth, land and spiritual knowledge, start religious rituals, make a spiritual guru, travel abroad, buy new vehicles, buy new properties, etc.

What should not do in Guru Pushya Yoga

In this yoga you should not perform marriage, mundane, housewarming etc.

गुरुपुष्य योग 2020-21

ज्योतिषशास्त्र में प्रतिष्ठित सभी योगों में “गुरुपुष्य योग” को सबसे शुभ योग माना गया है। शास्त्रानुसार यदि आप इस योग में कोई कार्य प्रारम्भ करते है तो वह कार्य पूर्णतः सफल होता है। इसी कारण किसी भी नए कार्यो की शुरुआत इस योग में करना श्रेष्ठ माना जाता है। तारा या चंद्र अशुभ होने पर भी पुष्य नक्षत्र में किये गये कार्य सफल होते हैं।

पापैर्विद्धेयुते हीने चन्द्रतारा बलेऽपि च।
पुष्यसिद्धयन्ति सर्वाणि कर्माणि मंगलानी च।।

यदि चंद्रमा और तारा बलहीन हो या पापयुक्त/पापविद्ध हो तब भी पुष्य नक्षत्र में किए गए समस्त मांगलिक कार्य सफल होते हैं।

एक स्थान पर यह भी कहा गया है-‘पुष्यस्त्वंसर्वधिष्णायानम्। अर्थात पुष्य के नक्षत्र के संयोग होने पर अनिष्ट से अनिष्ट दोष भी नष्ट होकर जातक के इच्छा के अनुकूल हो जाता है और कार्य सिद्धि देता है। गुरुवार को पुष्य नक्षत्र के संयोग से सर्वार्थ सिद्धि और अमृत सिद्धि योग बनता है। किंतु यदि गुरु पुष्य योग नवमी तिथि में हो तो वह विषयोग बन जाता है। इस कारण नवमी तिथि को गुरु-पुष्य का त्याग करना चाहिए।

गुरु पुष्य योग में क्या करना चाहिए ?

इस योग में जातक को निम्नलिखित कार्य करना चाहिए यथा — उच्च विद्या का ग्रहण करना, धन ग्रहण करना, भूमि खरीदना, विद्या ग्रहण करना, आध्यात्मिक ज्ञान प्राप्त करना, धार्मिक अनुष्ठान शुरू करना, गुरु बनाना, विदेश यात्रा करना नया वाहन खरीदना, नई प्रॉपर्टी खरीदना इत्यादि।

गुरु पुष्य योग में क्या नही करना चाहिए ?

वैसे तो इस योग में मंगल कार्य का प्रारम्भ करना श्रेष्ठ माना गया है परन्तु इस योग में विवाह, मुंडन, गृहनिर्माण, गृहप्रवेश आदि कार्य इस के लिए निर्धारित मुहूर्त में ही करना चाहिए।

Guru Pushya Yoga | गुरुपुष्य योग 2020-21

DateStarting TimeDateEnding Time
2 -4-2020 19:283 -4- 2020Sunrise
30-4-2020Sunrise30-4-202025:53
28-5-2020Sunrise28-5-202007:27
31-12-202019:4901-01-2021Sunrise
28-01-2021Sunrise29-01-202103:51
25-02-2021Sunrise25-02-202113:17

Leave a Comment

Your email address will not be published.