16 सोमवार व्रत कब और कैसे शुरू करें | 16 Monday Fast Method

16 सोमवार व्रत कब और कैसे शुरू करें | 16 Monday Fast Method16 सोमवार व्रत कब और कैसे शुरू करें | 16 Monday Fast Method. पालक, संहारक तथा अर्धनारीश्वर रूप में स्थित शिवजी शीघ्र ही प्रसन्न होने वाले देव हैं यही कारण है की इन्हे प्रसन्न करने के लिए भक्त विभिन्न रूप में आराधना करते है। भगवान् शिव की इन व्रत आराधनाओं में कुछ अत्यंत ही सरल होती हैं तो कुछ बहुत ही कठिन होता हैं। इन्ही व्रत में 16 सोमवार व्रत भी है जो बहुत ही कठिन है किन्तु इस व्रत  को करने से  भगवान शिव शीघ्र ही प्रसन्न होकर मनोवांछित फल प्रदान करते है। भगवान शंकर को महादेव कहा जाता है। यह व्रत कोई भी कर सकता है। यह व्रत यदि कुंवारी कन्याओं द्वारा किया जाए तो उन्हें मनोनुकूल पति की प्राप्ति होती है। परन्तु इस व्रत को पूर्ण विधि-विधान से करना बहुत जरुरी होता है। 16 सोमवारी व्रत श्रावण सोमवार व्रत से अलग होता है और कठिन भी।

16 सोमवार का व्रत कब शुरू करनी चाहिए ? | When should Start Fast

इस व्रत को श्रावण, चैत्र, वैशाख, कार्तिक और मार्गशीर्ष मास में आरम्भ करना चाहिए। उपर्युक्त मास में व्रत आरम्भ करने से शुभ फल की प्राप्ति होती है।

16 सोमवार व्रत विधि | Monday Fast Method

सोमवार के दिन व्रती को सूर्योदय से पूर्व उठना चाहिए। पूजा करने से पहले नित्य क्रिया से निवृत्य होकर स्नान करना चाहिए। स्नान के दौरान पानी में गंगा जल तथा काला तिल डालकर नहाना चाहिए तथा पहली बार शरीर पर जल डालते समय निम्न मंत्र का जप करना चाहिए।

ॐ गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वती।
नर्मदे सिन्धु कावेरी जले अस्मिन् सन्निधिम् कुरु।।।

प्रत्येक सोमवार को बाल धोकर अवश्य ही नहाना चाहिए। इसके बाद स्वच्छ कपड़ा पहनना चाहिए तत्पश्चात अपनी इच्छा तथा सुविधानुसार पूजा घर में या शिवालय में जाकर पूरी विधि के साथ पूजा अर्चना करें। पूजा में निम्न वस्तुओं का प्रयोग करनी चाहिए यथा :-

सफेद चन्दन
श्वेत फूल
अक्षत
पंचामृत
पान
सुपारी
फल
गंगा जल
बेलपत्र
धतूरा-फल तथा धतूरा-फूल

से शिव-पार्वती तथा साथ में गणेशजी, कार्तिकेय और नंदी जी की पूजा-अर्चना करनी चाहिए।

भगवान शिव का जलाभिषेक किया जाता है। यह अभिषेक गंगा जल और पवित्र नदी के जल से किया जाता है। भगवान का अभिषक दूध, दही, घी, शहद, चने की ताल, सरसों के तेल, काले तिल आदि से किया जाता है।

पूजा में  “ॐ नमः शिवाय” गणेश मंत्र “ॐ गं गणपतये नमः ” तथा चन्द्रमा ( Moon) के बीज मन्त्र “ॐ श्रां श्रीं श्रौं सः चन्द्रमसे नमः” आदि मंत्रो की कम से कम तीन माला का जप अवश्य करनी चाहिए। पूजा अर्चना के बाद सोमवार व्रत की कथा अवश्य पढ़नी चाहिए।

Somvar Vrat Aarti

16 सोमवार व्रत पूजन समय

16 सोमवार व्रत पूजन समय निश्चित होता है। इस व्रत की पूजा दिन के तीसरे प्रहर में अर्थात साय 4 बजे के आसपास किया जाता है तथा हमेशा इसी समय ही पूजा करना चाहिए इसमें किन्तु परन्तु का समावेश नहीं होता है।

16 सोमवार व्रत में प्रसाद में क्या-क्या चढ़ाये

इस व्रत में गेहू के आटे में घी तथा शक़्कर मिलाकर उसे हल्का भून कर चूर्ण तैयार किया जाता है। इस प्रसाद को मुख्य प्रसाद माना जाता है किसी भी परिस्थिति में इस प्रसाद को छोड़ना नहीं चाहिए। इस प्रसाद की मात्रा भी निश्चित होती है। यदि आपने प्रथम सोमवार व्रत में 250 ग्राम आटे का प्रयोग किया है तो आपको प्रत्येक सोमवार को इसी मात्रा में आटे का प्रयोग करना होगा। इस प्रसाद का स्थान विशेष के अनुसार भिन्न-भिन्न नाम से जाना जाता है यथा कही — गेहू के आटा का चूर्ण तो कहीं पंजीरी इत्यादि।

इस व्रत में प्रसाद के रूप में चूर्ण के साथ साथ किसी भी एक फल का उपयोग कर सकते है परन्तु  जिस फल को आप एक बार उपयोग करेंगे उस फल को सभी सोमवारी व्रत में उतनी ही मात्रा में उपयोग करना होगा अन्यथा आपका व्रत खंडित हो जाएगा।

सोमवारी व्रत का उद्द्यापन कैसे करें?

इस सोमवार व्रत का उद्द्यापन 17 वें सोमवार के दिन करना चाहिए। उद्द्यापन किसी कुशल पंडित के द्वारा ही कराना चाहिए। उद्द्यापन भी उसी समय करना चाहिए जिस समय आप प्रत्येक सोमवार को पूजा करते थे। उद्द्यापन में सवा किलो आटे का प्रसाद चढ़ाना चाहिए। प्रसाद को तीन भाग में विभक्त कर देना चाहिए तथा उपर्युक्त बताये के अनुसार तीसरा भाग स्वयं खाना चाहिए।

उद्द्यापन में दशमांश जप का हवन करके सफेद वस्तुओं जैसे चावल, श्वेत वस्त्र, दूध-दही,बर्फी चांदी तथा फलों का दान करना चाहिए।

इस दिन विवाहित दंपतियों को भी जिमाया जाता है। दंपतियों का चंद्रदर्शन और विधिवत पूजन किया जाता है। लोगों को उपहार स्वरूप कुछ सामग्री भी उद्यापन के दौरान दान में दी जाती है। इस प्रकार से देवों के देव शिवजी का व्रत पूर्ण होता है और भक्त जन को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

 सोमवार व्रत में निम्न बातों का ध्यान जरूर रखे

  1. सोमवार व्रत पूजा से पहले पूर्ण उपवास रखा जाता है अर्थात पानी भी नहीं पीना होता है।
  2. भोजन के रूप में सिर्फ चढ़ाये हुए प्रसाद का तीसरा हिस्सा ही ग्रहण करना होता है। तीन हिस्सा में एक हिस्सा ब्राह्मण को देना चाहिए तथा दुसरा हिस्सा बच्चो के लिए होता है।
  3. पूजा के बाद प्रसाद ग्रहण के समय आपने जो पानी पी लिया उसके बाद पानी नही पीना होता है।
  4. इस व्रत में किसी भी परिस्थिति में नमक का प्रयोग नहीं करना चाहिए।
  5. दिन में शयन न करें। 
  6. 16 सोमवार तक जो खाद्य सामग्री ग्रहण करें उसे एक स्थान पर बैठकर ग्रहण करें, चलते फिरते नहीं।
  7. 16 सोमवार तक प्रसाद और पूजन के जो नियम और समय निर्धारित करें उसे खंडित ना होने दें। 
  8. जिस दिन से पूजा आरभ करेंगे उस दिन से लेकर उद्द्यापन तक किसी दूसरे के घर में भोजन नहीं करना चाहिए।
  9. इस दिन पूर्ण रूप से ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करे।
  10. इस दिन झूठ नहीं बोलना चाहिए।
  11. व्रत के दौरान अपना ध्यान दिन-रात शिवजी में ही लगाए रखना चाहिए।
  12. इस दिन शिवजी का कोई एक मन्त्र का चयन कर लेना चाहिए तथा मन में इसका जप करते रहना चाहिए।
  13. इस दिन मन वचन तथा कर्म से शिवमय हो जाना चाहिए।

 सोमवार व्रत से लाभ | Benefit from Monday Fast 

  1. सोमवार व्रत करने वाले को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।
  2. कुवारी कन्याओ को मनोनुकूल पति की प्राप्ति होती है।
  3. संतान सुख की प्राप्ति होती है।
  4. घर में अकारण होने वाले पति-पत्नी के मध्य क्लेश में कमी हो जाती है या ख़त्म ही हो जाता है।
  5. रोगो से मुक्ति मिलती है
  6. शरीर में शिव शक्ति संचार की अनुभूति होती है।
  7. अपना तथा अपने परिवार के सदस्यों को अकाल मृत्यु का भय कम हो जाता है।
  8. जन्मकुंडली में अशुभ ग्रह की दशा चल रही है तो अशुभता में कमी हो जाती है।

16 सोमवार व्रत तथा सोमवार व्रत में अंतर

16 सोमवार व्रत

  सोमवार व्रत

116 सोमवार व्रत केवल16 सोमवार ही होता है। सोमवार व्रत आप आजीवन भी कर सकते है।
2इस व्रत में पूजा दिन के तीसरे प्रहर में होता है।आप पूजा कभी भी कर सकते है।
3इस व्रत में जो प्रसाद प्रथम दिन चढ़ाते है वही पुरे व्रत में चढ़ाना होता है। सावन या अन्य सोमवार व्रत में ऐसा नहीं है।
4 किसी भी रूप में पूजा खंडित नहीं होना चाहिए।यह व्रत आप छोड़कर भी कर सकते है।
5 इस व्रत के दौरान केवल भोजन एक ही बार करना होता है इस व्रत में ऐसा कोई कठिन नियम नहीं है।

“ॐ नमः शिवाय “ॐ नमः शिवाय “ॐ नमः शिवाय “ॐ नमः शिवाय “ॐ नमः शिवाय “

99 thoughts on “16 सोमवार व्रत कब और कैसे शुरू करें | 16 Monday Fast Method”

      1. सावन के शुक्ल पक्ष के पहले सोमवार से शुरू किया जाता है

      1. क्या मैं 16 सोमवार इस 4th अप्रैल से शुरू कर सकती हूँ।
        दरासल मैं श्रावण का सोमवार भी करती हूँ हर साल। तो मेरा 16वा सोमवार उस दिन आएगा जिस दिन श्रावण चालू हो रहा है मतलब 18 जुलाई तो मेरा श्रावण तो छूट जाएगा ना प्लीज़ हेल्प कीजिये। मुझे मेरे श्रावण का सोमवार भी पूरा करना है औऱ 16 सोमवार भी तो मैं कब से शुरू करु ये बताइए।

  1. 1st question is, I am a working woman, I reached at home at 6:00 pm but I want to do solah somvar, is it possible that I perform this puja between 6:00 to 7:00 pm?
    2nd, do I have to perform whole puja vidhi once in the morning & once in evening or else I can only perform it in evening?
    3rd I missed sawan ka 1st somvaar should I start it then Kartik month 1st somvaar or else I can start it from 2nd Monday of sawaan?

    1. I guess, working women / men can change Pooja time & keep same time throughout all 16 Mondays
      As per :- Shiv Puran , 18/6. shlok 5

    1. Dekho bura mat manna lekin pepper me pass hona he to aapko brat ke sath apne karm apni padayi roj mehnat se krni chyie

    2. sir ye 16 somwar ka fast kya sirf sawan ke 1st somwar se he kr skte hai beech se nhi kr skte pls answer me?

        1. मैंने 16 व्रत शुरू की थी पर महावारी के समय छोड़ना पड़ता है ये सही है नन्ही ?
          मैंने इस व्रत को अपने किराए के घर में सुरु की थी जो की अब वह नही रहती तो अपने घर पर इसका उद्यापन कर सकती हू ?

    3. Sir Maine pooja 5baje suru ki hai 2monday ab our Monday 5baje Pooja karu na change nai kr sakti..,. Matlab ab 4baje time change nai kr sakti

  2. sir ji 16 somvar vrat me somvar ko dusaro ke ghar nahi bhojan khana hair ya 16 somvar pura hone tak nahi jana hai bhojan per
    sir girls period me vrat krangi to pooja kaise hogi

    1. 16 somvar vrat pura hone tak dusre ke ghar nahi khaye to bahut shubh hota hai yadi esa smbhav nahi hai to somavar ke din to bilkul hi nhi khana chahiya .

      Period ke dauraan puja nahi karni chahiye prntu fast rakhana chaahiye.

  3. WHILE DOING 16 SOMVAR VRAT, IF THERE IS CHUTIKA IN HOME. SO CAN WE CONTINUE THE VRAT.
    oR BECAUSE OF CHUTIKA VRAT IS KHANDIT. pLEASE REPLY ME SOON.

      1. sir ye 16 somwar ka fast kya sirf sawan ke 1st somwar se he kr skte hai beech se nhi kr skte pls answer me?

  4. In my home my cousin brother having new baby(Son) took birth on 1st of aug. I’m doing 16 somvar vrat from 22nd july 2019. We are living in different STATE. Can i continue this vrat. Tomorrow (5th of Aug) can i to do the vrat. if not than from when i can continue the vrat? Or i’ve to start from fresh. Please reply me soon.

      1. dear pooja
        16 somvaar ka vrat continue hi karna chahiye yadi period ke dauran somvaar aata hai to us dauran upvaas rakhana chahiye pooja nahi karna chahiye esaa karne se aapka varat khandit nahi hoga .

        1. Sir maine 3 somvar k vrat rkhe hai jinmein ki pooja tym b fixed nhi tha or pehle do m to aate ka prashad b ni bnaya or har bar tisre pehr m bhojan kra or pani b din bhr mein piya.

          Sir pls pls btaiye ki ik tym khana kha skte h ya mere sare 3 vrat khandit ho gye h m dobara se shuru kru vrat???

      2. Sir maine 3 somvar k vrat rkhe hai jinmein ki pooja tym b fixed nhi tha or pehle do m to aate ka prashad b ni bnaya or har bar tisre pehr m bhojan kra or pani b din bhr mein piya.

        Sir pls pls btaiye ki ik tym khana kha skte h ya mere sare 3 vrat khandit ho gye h m dobara se shuru kru vrat???

    1. Shraddha L. Ostwal

      Guruvar pranam,
      16 somvar ka vrat sirf paani pe kiya toh chalega kya?? Mend ye 2 Somwar paani pe hi vrat kiye hai?? Yeah muze tisre prahar me prasadi khana jaruri hai?? Magalwar ko nahi kha sakte kya??
      Please guide me

  5. Sir,l have started Monday fast from Shrawan month but Pujan time was not fixed in all Mondays and Maine aate ka Prasad bhi nahi banaya as described by you aur bhojan ek time Kiya hai but namak khaya h,please bataiye ki ye vrat Lagenge ya Mai Kartik month se start Karu 16somvar vrat.

        1. Sir solah somvaar equal quantity me prasad se pooja krte h….. To period tym vrat rakhenge…. But pooja nhi karenge….. To hamaare vrat khandit to nhi honge

    1. Sir, mujhe pta ni tha ki vrat continue rakhte h maine periods main vrat nhi rakha tha
      Mujhe suggest kare kya karun pls

        1. Aayushi Singhal

          toh hum us din same tarah se prasad bna kar same time par kha sakte hain bina pooja kare?

    1. मार्गशीर्ष month ka first Monday nikal gya. .. Ab kya vrat start kr skte hai.. . Agar nhi to right time btaiye kisi ab se start kre vrat? ? Plz

  6. I want to do solah somvar vrt from this vaishakhi please help me how will start and how will finish because as you describe one time one fruit kisi k yha khana nhi I can do but udyapan me kha se log laungi pandit bhi milna muskil kyuki Mai city me hu Aur agr puja 4k bjye 7bje kre to actually I m salary employee office time 9-5:30 please answer me sir

  7. दिन के तीसरे प्रहर -means timing between 12:00 PM to 3:00 PM,so 16 soom vaar vart puja time is the same?? or we can do puja at 5:00 Am-06:00 AM

    Please confirm.

  8. अनामिका सेठ

    ? गुरुजी
    मैंने सुना है कि सोलह सोमवार व्रत उठाते समय शिवजी का वास का भी ध्यान देना चाहिए …जैसे कि कुछ जगह ऐसे हैं जहां व्रत उठाने से मनवांछित फल की प्राप्ति होती है और कुछ ऐसे जागह होते है जहां शिवजी के वास के दौरान व्रत उठाने से वो बहुत ज्यादा फलित नही होता ……इसलिए आपसे विनम्र निवेदन है कि इस साल 2020 मे श्रवण मास का ऐसा सोमवार बताइये की जब व्रत शुरू करे तो वो बहुत ज्यादा फलित हो

  9. Sir Mai 16 somvar ka vrat karna chahti hun, parantu Mai Bina piy nahi rah paungi, plz suggest me.????

      1. श्रावण, चैत्र, वैशाख, कार्तिक और मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष के प्रथम सोमवार से प्रारम्भ करें।

  10. Akanksha Agarwal

    is baar sawan k phle somvar andhera paak h …kya solah somvar sawan k andhere paak k din se kr skte h…plzzzz replyyy….

    1. Rajeshwari rajput

      is baar sawan k phle somvar andhera paak h …kya solah somvar sawan k andhere paak k din se kr skte h…plzzzz replyyy…sir ji
      आज श्रावण का पहला सोमवार है और एक बात सर जी जैसे कि सोलह सोमवार तक शुरू करना है और कहीं और दूसरी जगह चले गए जैसे कि मायके में दूसरे सोमवार में तो क्या व्रत जारी रख सकते हैं जैसे कि अभी मैं मायके में हूं और सावन का पहला सोमवार पड़ा है मैं सोलह सोमवार का व्रत रखना चाहती तो क्या आज से ही सोलह सोमवार व्रत शुरू कर सकते हैं अगले सोमवार तक ससुराल में रहेंगे Sar ji please Jawab De aaj se hi shuru karna chahte hain vrat

      1. Plz suggest me sir.periods kr din somabar ko hum count karenge ya nehi.vrat to karenge but usko count karenge ya nrhi

  11. Sir jaisa ki sawan ka pahla somvaar nikal gya h to aane Wale somvaar se is vrt ko start kr skte h???

      1. Yeh 16 somvar ki puja subah 6-7bje ke bicch me kr sakte h….aur Somwar ka kitab koi v padh sakta h na….kis ek ko hi odhna jaruri hai kya???

  12. Sir mene 1st time 16 somvar vrat suru Kia
    To muje Pandit ji ne bola ki 1st time sirf bel patra ka logi to bhut shubh mana jaega to mene 1st somvar ko pooja krne k bad sirf bel patra k 3 part kie or 1 part cow ko khilaya 2ra pariwar me prasad roop me dia or 3rd part khud kha k pani piya or panchamrat ka prasad lia h bs… to kya mene sahi Kia
    Or muje churma ka prasad udhyapan k din bnane ka bola gya baki 16 somvar tk sirf bel patra hi pani l sath lene k lie btaya

  13. Sir mene 1st time 16 somvar vrat suru Kia
    To muje Pandit ji ne bola ki 1st time sirf bel patra ka logi to bhut shubh mana jaega to mene 1st somvar ko pooja krne k bad sirf bel patra k 3 part kie or 1 part cow ko khilaya 2ra pariwar me prasad roop me dia or 3rd part khud kha k pani piya or panchamrat ka prasad lia h bs… to kya mene sahi Kia
    Or muje churma ka prasad udhyapan k din bnane ka bola gya baki 16 somvar tk sirf bel patra hi pani l sath lene k lie btaya….

  14. Sir mein 27 July se 16 somvar vart rakh skti hu kya? Kyuki us din se shukl paksh start hai.
    agr me subh 4 baje pooja krti hu or 6 baje tak meri pooja khtm hojaye toh mein uske bad soo skti hu kya?
    Or pooja subh bhi krni hai or 4pm baje bhi jab prshad chadhana hai tab?

  15. Plz suggest me sir.periods kr din somabar ko hum count karenge ya nehi.vrat to karenge but usko count karenge ya nrhi

  16. Vishakha aggarwal

    Kya m ab 16 somvaar k vrat shuru kr skti hu or kya hum sham ko 4 bje Pooja k bd prasad chda kr phr Khana Kha skte h

  17. Yeh 16 somvar ki puja subah 6-7bje ke bicch me kr sakte h….aur Somwar ka kitab koi v padh sakta h na….kis ek ko hi odhna jaruri hai kya???

  18. Sir mene 16somvar vrat chl rhe h pr mene 6vrat m pani pi liya h, jo phle ke vrat m nhi piya tha to ky mere vrat khadit ho gya… Pls tell me

      1. Janbhujkar Paani nhi piya sir glti s pi liya fir us din mene vrat nhi kiya, ky mujhe fir s start krna chahiye..

  19. Gd evng sir.maine savan ke pahle Somwar se 16 somvar vrat start kiya tha but usi din subah mein mere bade mama ke Marne ki khabar aayi.Aisa teen baje subah ko hua .toh kya mera vrat khandit Mana jaega.pooja k baad se mere son ki tabiyat Tuesday ko kharab ho gyi thi..mama bahut budhe the aur mummy mere paas hi hai abhi… Mummy ko 3 din ka chhutak tha.sir pls reply. Should I continue or it is khandit

Leave a Comment

Your email address will not be published.