पूजा स्थान घर में कहाँ होना चाहिए

आइये जानते हैं पूजा स्थान घर में कहाँ होना चाहिए वास्तु के अनुसार पूजा स्थान  ईशान कोण अर्थात उत्तर-पूर्व दिशा (North-East Direction) में होना चाहिए।  इस दिशा में पूजा घर होने से घर में तथा उसमे रहने वाले लोगो पर सकारात्मक ऊर्जा (positive Energy) का संचार हमेशा बना रहता है। वस्तुतः देवी देवताओ की कृपा के लिए घर में पूजा स्थान वास्तु दोष से पूर्णतः मुक्त होना चाहिए अर्थात वास्तुशास्त्र के अनुसार ही घर में पूजा स्थान होना चाहिए। पूजा स्थान यदि वास्तु विपरीत हो तो पूजा करते समय मन भी एकाग्र नहीं हो पाता और पूजा से पूर्णतः लाभ नहीं मिल पाता है।

सच तो यह है कि घर में मंदिर होने से सकारात्मक ऊर्जा उस घर में तथा उस घर में रहने वालो पर हमेशा बनी रहती है। यह भारतीय संस्कृति का सकारात्मक स्वरूप ही है कि घर कैसा भी हो छोटा हो अथवा बड़ा, अपना हो या किराये का,  लेकिन हर घर में मंदिर अवश्य होता है क्योकि यही एक स्थान है जहाँ बड़ा से बड़ा व्यक्ति भी नतमस्तक होता है तथा चुपके से ही सही अपने गलतियों का एहसास करता है और पुनः ऐसी गलती नहीं करने का भरोसा भी दिलाता है अतः वास्तव में पूजा का स्थान घर में उसी स्थान में होना चाहिए जो वास्तु सम्मत हो। परन्तु कई बार अनजाने में  अथवा अज्ञानवश  पूजा स्थान का चयन गलत दिशा में हो जाता है परिणामस्वरूप  जातक को  उस पूजा का सकारात्मक फल नहीं मिल पाता है।

जरूर पढ़े ! “पूजा करते समय तिलक किस उंगली से करना चाहिए” 

पूजा स्थान

घर में पूजा/मंदिर का स्थान ईशान कोण में ही क्यों ?

घर में पूजा का स्थान ईशान कोण अर्थात उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। वास्तुशास्त्र  में पूजा घर के लिए सबसे उपयुक्त स्थान ईशान कोण को ही बताया गया है क्योकि इसी दिशा में ईश अर्थात भगवान का वास होता है तथा ईशान कोण के देव गुरु वृहस्पति (Jupiter) ग्रह है जो की आध्यात्मिक ज्ञान का कारक भी हैं। सकारात्मक ऊर्जा का संचार भी इसी दिशा से होता है। जब सर्वप्रथम वास्तु पुरुष इस धरती पर आये तब उनका शीर्ष उत्तर पूर्व दिशा में ही था यही कारण यह स्थान सबसे उत्तम है।

पूजा करते समय तिलक लगाना न भूले  जाने !  “क्यों जरुरी है पूजा के समय तिलक लगाना” 

वैकल्पिक पूजा स्थान (Alternative Pooja Sthan)

यदि किसी कारणवश ईशान कोण में पूजा घर नहीं बनाया जा सकता है तो विकल्प के रूप में उत्तर या पूर्व दिशा का चयन करना चाहिए और यदि ईशान, उत्तर और पूर्व इन तीनो दिशा में आप पूजा घर बनाने में असमर्थ है तो पुनः आग्नेय कोण (पूर्व-दक्षिण East-South) दिशा का चयन करना चाहिए भूलकर भी केवल दक्षिण दिशा( South)  का चयन नहीं करना चाहिए क्योकि इस दिशा में “यम” (मृत्यु-देवता) अर्थात नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy) का स्थान है।

पूजा स्थान

किस स्थान में पूजा घर या मंदिर नहीं होना चाहिए।

  1. घर में मंदिर सीढ़ियों के नीचे (Below stairs) मंदिर नहीं बनाना चाहिए।
  2. शौचालय या बाथरूम (washroom)के बगल में या ऊपर नीचे भी पूजा घर नहीं बनाना चाहिए।
  3. मंदिर कभी भी शयनकक्ष या बेडरूम में नहीं होना चाहिए।
  4. बेसमेंट भी पूजा घर के लिए ठीक नहीं है।
  5. यदि इन स्थानो में पूजा घर बनाते है तो घर में अकारण ही क्लेश होता है तथा आर्थिक हानि (Loss) भी होती है। घर का स्वामी ख़ुशी जीवन व्यतीत नहीं कर पाता है।
  6. पूजा घर के अग्निकोण में धुप, दीप जलाना चाहिए।
  7. यदि आपका मंदिर लकड़ी का है तो इसे घर की दीवार से सटाकर न रखें।

जाने ! आपके इष्टदेव कौन है 

पूजा के समय व्यक्ति का मुख किस दिशा में होना चाहिए

पूजा करते समय भक्त का मुख किस दिशा में हो यह एक महत्त्वपूर्ण विषय है वस्तुतः पूजा करते समय व्यक्ति का मुख पूर्व या उत्तर दिशा ( East or North Direction )  में ही होना चाहिए। इस दिशा में मुख करके पूजा करने से पूजा का फल उत्तम तथा शत-प्रतिशत प्राप्त होता है।

पूजा स्थान से सम्बन्धित महत्वपूर्ण बातें

  1. मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा शुभ मुहूर्त में ही करे।
  2. आश्‍विन माह में दुर्गा माता के मंदिर की स्थापना करना शुभ माना गया है. इसका बहुत पुण्य फल मिलता है ।
  3. घर में 3 गणेश, 3 देवी प्रतिमा, 2 शिवलिंग, 2 शंख, 2 सूर्य-प्रतिमा, 2 शालिग्राम का पूजन नहीं करना चाहिए ऐसा करने से मानसिक अशांति तथा आर्थिक नुकसान हो सकता है।
  4. पूजा स्थान का रंग स़फेद या हल्का क्रीम होना शुभ माना गया है।
  5. भगवान की फोटो या मूूर्ति नैऋत्य कोण में नहीं रखना चाहिए। यदि ऐसा करते है तो आपके कार्यों में व्यवधान आएगा।
  6. पूजा स्थल आकार में चौकोर या गोल होना शुभ होता है तथा पूजा स्थान की भूमि उत्तर पूर्व की ओर झुकी हुई एवं दक्षिण-पश्‍चिम से ऊचा होना चाहिए। मंदिर के स्थान की यह स्थिति सर्व कल्याणकारी होता है।
  7. घर के मंदिर की ऊंचाई उसकी चौड़ाई से दुगुनी होनी चाहिए। मंदिर के परिसर का फैलाव ऊंचाई से 1/3 होना श्रेष्ठकर होता है।
  8. शयनकक्ष में पूजा स्थल बनाना अच्छा नहीं होता है परन्तु स्थान के अभाव में मंदिर शयनकक्ष में ही बनाना पड़े तो मंदिर के चारों ओर पर्दे लगा दें इसके अलावा शयनकक्ष के उत्तर पूर्व दिशा में पूजास्थल होना चाहिए.
  9. ब्रह्मा, विष्णु, शिव, सूर्य और कार्तिकेय, गणेश, दुर्गा की मूर्तियों का मुख पश्‍चिम दिशा की ओर होना चाहिए कुबेर, भैरव का मुख दक्षिण की तरफ़ हो, हनुमान का मुंह दक्षिण या नैऋत्य की तरफ़ होना शुभ होता है।
  10. घर में एक बित्ते से अधिक बड़ी पत्थर की मूर्ति की स्थापना करने से गृहस्वामी को सन्तान कष्ट की प्रबल सम्भावना बनी रहती है।
  11. पूजा घर शौचालय के ठीक ऊपर या नीचे न हो ।

शनि स्तोत्र से करे अपनी परेशानियों का हल


सूर्य ग्रहण 1 सितम्बर 2016 का राशिफल

जाने ! जिस मन्त्र की दीक्षा या जप करते हैं वह लाभदायक है या नहीं

Diwali Pujan Vidhi / दीपावली पूजन कैसे करें

रुद्राक्ष एक लाभ अनेक | Rudraksh Pahanane ke Fayade

जाने ! शनि की साढ़ेसाती 2017  का प्रभाव

202 thoughts on “पूजा स्थान घर में कहाँ होना चाहिए”

    1. Dr. Deepak Sharma

      दक्षिण दिशा में पूजा स्थान शुभ नहीं होता इससे मानसिक शांति भंग हो सकती है।

      धन्यवाद

  1. क्या दक्षिण-पश्चिम दिशा (नैरृत्य दिशा) में पूजा घर हो सकता है

    1. sir Mai elect office me ak lakari ka mandir banavaya hun jiska bara hall h uska paschim -dachhin ka kon me lagana chahte h to kya subh hoga ya nhi

      1. In my house there is a store room situated in ISHAN ANGLE. Can I place my white wooden temple in store room where ishan angle located. Pleaseeeeeeeeeeeeeesssss answer me

    2. Yadwinder singh

      Kya hum ghar ka mandir north disha me bna sakte hai agere north me mandir bnaye to bhagwan ki tasveero ka mukh kis tarf kare or jo humbhgwan k aage diya jalate hai to north disha me mandir bnane se diye ka mukh kis taraf rakhe plz bataye

  2. महोदय, भगवान की फोटो का मुख किस दिशा मे होना चाहिए।

    1. भगवान जी का मुख महत्वपूर्ण नहीं है की किस दिशा में हो महत्वपूर्ण है की पूजा करते समय आपका मुख पूर्व या उत्तर दिशा में हो।

      1. santosh dixit

        Sir .Mare ghar me sari murtiya pita ji ke samaye se pachim me stapit hai jab bhi hum puja karte hai tab hamari pith purab me hoti hai murtiya shivji linga va durga ki hai va kali mata sab ke phase purab me hai kya unhe nikal va de 40 saal se asehi puja chal rahi hai maine app ke post padihai par is visyae me mara marg darshan kare ati kripa hogi adarniya

  3. महोदय, मेरा घर का मुख्य द्वार south face मे हेे ।मुझे क्या करना चाहिए।

    1. मुख्य द्वार की शुभता और अशुभता गृह स्वामी के आधार पर तय किया जाता है की किस दिशा में शुभ होगा और किस दिशा में अशुभ

  4. प्रणाम …
    मेरा घर का मुख्य द्वार इशान कोण में है, मुख्य द्वार के दरवाज़ा को खोलते ही पुजा स्थान में देवी देवताओं के मुख पे नज़र जाती है ,मेरा यही कहेना है की घर की अंदर मुख्य द्वार के दरवाज़े के सामने पुजा स्थान बनाना शुभ होता है या नहीं .

  5. देवी देवताओं की पूजा करते समय मेरी पीठ मुख्य द्वार के दरवाज़े(इशान कोण) की ओर होती है यह करना शुभ हो सकता है ?

        1. तो मूँजें किस दिशा में पुजा स्थल बनाना चाइए और पूजा करते समय मेरा मुख किस दिशा में होना चाइए और कुलदेवी देवताओ की तस्वीर किस दिशा में मूख करके लगाने से शुभ होता है

        2. Mere Ghar Mein Pooja room Aapne Jo tisari position btayi hey vaise he our muje Jain ke Parshva nath bhagvan rakhane hai to kon si Disha me rakhu

  6. घर के मंदिर में भगवान महादेव की मूर्ति की पूजा करनी चाइए या शिवलिंग की

  7. Rajesh guptà

    Ji Mera liye ka Ghar ha me Poooja time Mera mukh pashim dish ki aur Kaya ha mandir ka mouth purab dish ki aur ha Kaya ye Sahi ha

  8. RUPESH KUMAR BARDE

    Pandit ji jai sri Ganesh.me aapse puchana chaahata hu ki utar purw disa me esaan con hota hai to 2 diwaar ke kone me bhagwaan ji ka pujaa sthaan hona chaahiye .sthaan tribhuj aakaar me hoga .aap btaaiye kya ye sahi hai.

  9. shanker rawat

    मेरे घर के अंदर दो कमरे हे आगे बरामदा हे कमरो के अंदर वाले ईशान कोण मे पुजा घर सही है?

  10. हमने सुना है की इशान कोण में दीप नहीं जलना चाहिए ,पर पूजा स्थान तो इशान कोण में ही होता है तो पूजा का दीप कहाँ जलाएं ?

  11. suraj kachava

    Mhoday ji
    Namste pandit ji
    Mere garh ka darwaja daksin disa me hai
    Dusri disa me darwaja nahi khul sakta hai
    Kya karu
    Mandir kaha banao
    Please pandit ji

    Thanks

  12. सुमन सिंह

    मेरे मन में एक शिवालय और सूर्य मंदिर बनाने की इक्षा है कृपया इस सम्बन्ध मैं आवस्यक जानकारी पुराणों और बस्तु के अनुसार देने की कृपा करें ।सारे निर्माण घर के बाहर सबों के पूजा प्रार्थना के लिए करना है ।बहुत कृपा होगी ।पुनः आपको सादर प्रणाम ।

  13. mere ghar ka mandir store room me hai or jab hum pooja karte hai to hamara face dakshin (south) ki taraf hota hai kya je thik hai

  14. मेरा पपुजा घर वास्तुरचना कार ने किचन के पुव उत्तर कोने मे है

  15. मेरा पपुजा घर वास्तुरचना कार ने किचन के पुव उत्तर कोने मे है

    1. पूजा स्थल के ऊपर कोई भी वस्तु नहीं रखना चाहिए परन्तु जगह का अभाव होने पर रख सकते हैं।

  16. Mandir mai pooja karte samay pooja karne wale ka muh south ya west hota h or aap kahte h ki ghar mai pooja karne wale ka muh north ya East mai hona jaroori h samajh nahi aa raha ki konsi baat sahi h bataye.

  17. R/Sir,in our new house our interior is suggesting to make temple in our gallery because that is in North East position & as per vastu he is suggesting this is the ideal place,he is saying we can make glass partition in our gallery which is on first floor to make small puja room,kindly advise we r so confused

  18. hamra pooja sthal pashchim disha ke room me pashchim diwar per hai. to kya ye sahi hai nahi hai to kya kare. kyoki anya koi sthan nahi hai

  19. hamara pooja stham paschim disha k room me paschim diwar per hai. ye sahi hai ya nahi yadi nahi hai to kya kare. or koi room nahi hai ye study room hai. govt quater hai

  20. Hello Sir…Mera Mandir ishan kon mai hai or wo kichen mai hai. maine suna hai mandir kichen mai nhi hona chahiye.ager he baat Sahi hai to koi upay bataiye…thanku

  21. Hello Sir…Mera Mandir ishan kon mai hai or vo kichen mai hai. maine suna hai mandir kichen mai nhi hona chahiye….ager ye baat Sahi hai to koi upay bataiye…

  22. एस. एन. सोनी

    मेरे flat के ईशान कोण में बेडरूम के साथ अटेच बालकनी है जो glass partition से coverd है । back side में दूसरे flat का toilet है । क्‍या इस वालकनी में पूजा घर बनाया जा सकता है ।

  23. Sir mera kitchen Gar ke north me hi aur upar bnwa rha hu to do kitchen banana hi lekin north site me hi ho rha hi upay btaiye

  24. Namste …kya hum apne flat me mandir pillar par laga sakte hai …pillar east me hai .hall aur dinner ke bich ki place me hai ..

  25. सुनील कुमार

    मंदिर का मुख दरवाजा किस दिसा में होना चाहये क्रप्या बतलाएं

  26. pandit ji pranam….hanumaan ji ki puja ke kya kya niyam hote hai ar kis disha me hme hanumaan ji ki tasveer rakhni chaiye ar apna mukh ki taraf rakhna chaiye…

  27. pandit ji ko pranam
    pandit ji mere ghar ke sabhi ishan kodon mein bedroom ya bathroom hai ..mein phir madir kahan banau ..ghar mein pichle kayi saalon se sirf beemariyan wa kalesh hain

  28. Mere gar ka mandir ishan kon me hi lekin jis deewar pe mandir h uske pithe hi makan malik ka tolet h to aise me ky krna chahiye kiyu ki hmara gar 2 room set h plz btaiye

  29. रतनसिंह पवार

    आदरणीय सर मंदिर के कौनसी दिशा में मकान बनवाने के खाली प्लाट खरिदना उचित रहेगा

  30. रतनसिंह पवार

    आदरणीय सर उत्तर मुखी दिशावाले प्लाट के ठिक सामने २०० मिटर अंतर पर हनुमानजी का मंदिर है यह प्लाट खरिदना उचित रहेगा क्या

  31. अनिल यादव

    मेरे घर मंदिर दक्षिण पश्चिम दिशा में हे व् पूजा करते समय मेरा मुह उत्तर पूर्व दिशा में रहता है क्या यह सही है

  32. सर मैंने मारबल पथर से मंदिर बनवाया है लेकिन बनवाने समय पथर कही कही क्रक हो गया हैं । सही राय बताये सर

  33. Sir

    Mere Ghar par mandir make sthan bathroom ke niche aa Raha Hai aur usme 3.5 ft ka gap Hai kya yeh Sahi hai

    Sushil Naidu

  34. anjani sharma

    शर्मा जी नमस्कार मेरा नाम अंजनी शर्मा उर्फ़ पंकज है मई अल्लाहाबाद में रहता हूँ मई अपने कॉलोनी में एक पुराणी मंदिर थी जो टूट गई थी उसको बनवा रहा हूँ मगर वो पुराणी मंदिर है और उस मंदिर का मैं मुख उत्तर की तरफ है और अगर हम लोग पूजा करते है तो हमारा चेहरा साउथ यानि दखिन दिशा की तरफ है मई उसका मुख बदल सकता हूँ या नहीं
    और मई मंदिर बनवा रहा हूँ तो क्या क्या सावधानी राखु जिससे कोई दिक्कत ना अये

    मो. नो 9453777896

    1. mandir ka mukh jis disha me hai usme koi privartan n kare . Mandir me jaane ke baad yadi aapka mukh dakshin disha me ho raha hai to koi baat nahi haa ghar ke mandir me puja karte smy aapka mukh dakshin nahi hona chahiye.
      bhagwaan aapki manokamnaye purn kare isse achcha koi kaam nahi ho skta hai . hamare laayak yadi koi vishesh sevaa ho to bataa skte hai .

      thanks

  35. अशोक रांकावत

    ।।जय श्री कृष्णा।। दीपक जी
    मैं अब मकान बनवाना चालू कर रहा हु। मकान का सारा नक्शा वास्तु के हिंसाब से है।
    मुझे ये पूछना है की जो घर की कुंडी है वो इशान कोण मे ही है और घर का मुख्य दरवाजा भी इशान कोण में ही है।
    कोई घर मे जायेगा तो चम्पल जूते कुण्डी के पास ही खोलेगा तो ये वास्तु के हिंसाब से कैसे सेट करू।
    आप अपना सुजाव दे।?

  36. shashwat mishra

    mere ghar me ek hi kamra h jo ki bedroom bhi h toh kya mujhe ghar me pooja ni karni chahiye aur devi devtao ko sthapit ni karna chahiye.. agr kar sakta hun toh upay btayen

  37. नवीन कर्ण

    मेरे घर के ईषान कोण में बालकनी है। जिसके सामने खुला स्थान पार्क है। क्या बालकनी में मंदिर बना सकते हैं?

  38. ghar me mandir ke hight kitne hone or size kya hone chayia me apne ghar me mandir bna rha hu mena naya ghar banya he jisme Uttar puruv disa me space rakha he

  39. Sir mera ghar ka kitchen south East mai hai aur kitchen ke ander hi north east corner mai mera Temple hai aur vastu ke hisab se kitchen mai sink bhi north east mai hota hai toh mera mandir aur sink sath mai hai ek hi Plate form mai.mai mandir hali transfer karane chah raha hun par kisi ne kaha ghar ke beech mai mandir nahi banana .Sir please guide me

    1. सर्वप्रथम रसोईघर में पूजाघर वास्तु सम्मत नही है ।आप को अपने घर के उत्तर पूर्व दिशा में ही बनाएं।

  40. Hi. Sir mei sonipat se hu .. Abhi new flat rent par liya hai .usme mei apna wooden mandir wall hang kiya hai ..but in pillar..direction north east hi hai but saath mei common bathroom hai left side mei …bathroom ki wall se thoda gap hai ..aap baata de kya yeh thik hai ya nahi

  41. Namaskar
    Me ghar ki chat par apne liye room bnana chahta hu aur attached puja ghar washroom aur kitchen, balcony, mujhe btaye kis disha me kya thik hoga.

  42. Sir namskar

    Sir mery ghar utar mai bathroom hai or porv main ghar k nechey sevar pipe hain
    Kripaya upai batey mandir kidehar lagai

  43. Sir mere ghar k ground floor wale puja ghar ki dewaar bathroom se touch hai.. mandir k aage paani ki motor hai.. or uper wale floor pe mandir ishaan kon me hai.. or maine padha tha k mandir neeche hi hona chahiye… lekin ab confusion hai k bathroom ki wajah se neeche rakhu ya nhi ya uper rakhu… or pita ji 2 saal pehle shani maharaj ki photo la k rakhe mandir me uper.. to kya shani maharaj ki photo ghar me theek hai ya nhi.. margdarshan bhi bohot zarurat maharaj..

  44. Ghar me 20 photos hai alag alag bhagwaan ki… agar inme se kuch photo hatana chahu k un photos ko nadi me hi visarjan karu ya jheel me bhi kar sakte hain?

  45. Mere office ka mukh Purv Aur Dakshin k beech me hai Aur darwaja purv disha me hai.office ki jo pichli diwar hai waha uttar disha me toilet hai Aur dusri 3 side ne mandir lag nahi sakta to mujhe kya karna chahiye

  46. अशोक कुमार

    दरवाजा के पास या दरवाजा के उपर 5’feet पर 19/10/2017 को लकड़ी का छोटा मंदिर रख सकते हैं। उतर-पुरब के ईसान कोण में

  47. Sir mera ghar ka mandir ka gate aur interance dakchide ke tarfe hain….. plz mujha bataya ki mandir me interance ki side say hona chaihiya.

  48. Gajendra sharma

    पंडित जी को प्रणाम और हमारी सहायता के लिए कोटि कोटि धन्यवाद, मेरा प्रश्न है की घर में किस प्रकार का मंदिर उत्तम होता है ? पत्थर का लड़की का या फिर किसी धातु का ?

  49. अनिल यादव

    सर मेरे घर मंदिर का मुह दक्षिण दिशा में हे
    पूजा करते समय मेरा मुह उत्तर दिशा में होता है
    क्या यह सही है

  50. mujhe ye jannna h sir ki meri shadi kb hogi kyunki jab us bare m ghar wale soch rahe h tabhi koi na koi na problem aa ja rahi h mai kya karu.mera dt of birth h 01-08-1995 pls reply me

  51. Sir humne 5mahine pehle rent par ghar liya hai 2bed room hai ek room Hume bitiya ko diya hai usi room me mandir banaya hai kya wo thik hai east wali diwar ke sath rakha hai

  52. Ghar me entry karte hi drying room hai fir kichten open me hai kitchen side me hai dring room kafi bara hai lambi me kya mandir kichten ke samne wali jagah me rakh sakte hai

  53. Jagdish saner

    सर नमस्कार,
    हमारे घर मे देवघर का स्थान दक्षिण मुखी है..मतलब पुजा करते समय मेरा मुह उत्तर की तरफ होता है..क्या यह पुजा स्थान उचित है..

  54. mera puja ghar dakchhin paschhim dissa me hai or puja ghar ke niche kitchen hai or puja ghar ka darbaja purab ki taraf hai kya ye sahi hai

  55. chandra bhushan

    mera puja ghar ke sate kitchen hai or puja room ka darwaja ke thik samne bathroom ka darbaja hai kya ye sahi hai

  56. mera puja ghar dakchhin paschhim ke kone me hai or puja ghar ke niche kitchen hai puja room ka darbaja purb me hai kya ye sahi hai

  57. Rajender Nangia

    घर के पूरब दक्षिण कोण में मंदिर है पूजा करते समय मेरा मुख पूर्व दिशा में होता है क्या यह ठीक है।

    1. आपकी पूजा करने की स्थिति तो सही है, परन्तु मंदिर की दिशा सही नहीं है |

  58. Bhomendra singh

    मेरे घर का द्वार पूर्व दिशा में है और पहली मंजिल पर उत्तर दिशा में एक कमरा है, जिसका दरवाजा लोहे का है तथा दक्षिण दिशा में है, क्या इसमें शिव लिंग रखकर पूजा कार सकते है

  59. अनुराग राजकुमार त्रिपाठी

    सर नमस्कार
    18 तारीख को चैत्र नवरात्र सुरु होणे वाले है ओर हालीमे हमने दुसरा घर किरायेसे लिया तो सर अभी नवरात्री मे कीस दिशा मे घट स्थापना करणी चाहिये

  60. विमर्श पटेल

    अगर मंदिर उत्तर पूर्व कोने में रखेंगे तो भगवान् का मुख दक्षिण पश्चिम की तरफ होगा.. तो क्या यह सही है??? मान्यताओं के अनुसार भगवान् का मुख उत्तर-पूर्व की ओर होना चाहिए, और इस हिसाब से तो मंदिर दक्षिण-पश्चिम कोने में होना चाहिए, तो ही भगवान् का मुख उत्तर-पूर्व में होगा।
    तो अब यह कन्फ्यूजन का हल बताओ। मंदिर उत्तर-पूर्व होना चाहिए या भगवान् का मुख?????

  61. विमर्श पटेल

    और अगर भगवान् का मुख उत्तर-पूर्व की ओर रखेंगे तो पूजा करते समय हमारा मुख दक्षिण-पश्चिम की तरफ होगा। तो वह भी गलत होगा। तो इसका हल क्या हो सकता है?? भगवान् का मुख दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखना सही है क्या?? क्योंकि मैं आजतक जितने भी मंदिरों में गया हूँ , भगवान् का मुख उत्तर-पूर्व में ही होता है।
    अब कैसे मंदिर बनाये? भगवान् का मुख किस तरफ रखे और हमारा मुख पूजा करते समय किस तरफ रखे????

  62. Sir…humara pooja west me he aur East facing he…aap ka post padhkar humane north me ganesh ji ko Bethaya he to ab unka mukh south ki turf he…Jagah kam hone ke karn humne Dusre Devtao ke photo same rakhe he (West) me..vhan sirf diya jalate he aur aarati north me ganesh ji ki Karte he… Please bataeye Yeh sahi he ya nahi

  63. सर, मेरे घर में north east दिशा में guest room है जो मुख्य द्वार के सामने है. घर में मन्दिर का स्थान दक्षिण पूर्व वाले बेडरूम में स्टोर रूम में है. पूजा करते समय मुँह उत्तर दिशा की और रहता है. कृपया बताएँ कि मन्दिर के स्थान को कहाँ रखना चाहिए.

    1. घर में मंदिर दक्षिण पूर्व दिशा में कल्याणप्रद नहीं होता अतः मंदिर की स्थापना उत्तर या उत्तर पूर्व दिशा में स्थापित करे।

  64. Sir rent k ghar par kaise bhagwan ko rakhe jo disha apne btai h o possible ni ho rha h. Ky bhagwan ko purv disha me room k diwal k bich k part me rakh skte h ky

  65. Sir rent k ghar par kaise bhagwan ko rakhe jo disha apne btai h o possible ni ho rha h. Ky bhagwan ko purv disha me room k diwal k bich k part me rakh skte h ky ya south east portion me rakh skte h ky

  66. Mera mandir bathroom ke bagal me hai lekin uska darwaja dusri side hai. Kya mai mandir alag jagah shift karu

  67. Vinod Kumar Sharma

    Sharma ji ham mandir dakshin purab Disha me Bana sakte hai ya nahi mandir ka get pashim ki taraf rahega our mera fece puja karte samay purab ki taraf or wo kitchen ka piche me room hoga kyu ki mere ghar me purab Uttar ki taraf chat me jaane k lie Sidhi Bana Dia islie udhar banane me asamarth hai nahi to Sidhi Ko todna padega wo Sidhi v men get se paas lagbhag 3mitar ki duri me hai to ham kya kare kya sahi hoga please hindi me bataye kripa karke jaldi

  68. मंदिर का दरवाजा किस दिशा में होना चाहिए। please answer…

  69. Sir pujaroom के uper का हिस्सा हम कैसे use कर सकते है या उसे खाली chodna चाहिए

      1. सर हम अभी ग्राउंड फ्लोर पर रहते हैं मंदिर भी नीचे है पर अब हम ऊपर भी बना रहे हैं और मंदिर भी ऊपर ईशान में बनाने का सोच रहे हैं क्या ऐसा करना ठीक रहेगा

  70. सर हम अभी ग्राउंड फ्लोर पर रहते हैं मंदिर भी नीचे है पर अब हम ऊपर भी बना रहे हैं और मंदिर भी ऊपर ईशान में बनाने का सोच रहे हैं क्या ऐसा करना ठीक रहेगा

  71. mere ghar ka door east facing hai. north-west (NW) corner me.. toh door kholte hi north-east(NE) corner me north wall par temple bana sakte hai kya? par door kholte hi samne mandir dikhega.. to banaa sakte hai kya?

  72. Hello sir,
    Mere ghar k south disa k room me puja ghar north east k kone me hai. To subh hai ya asubh pls reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *