चंद्रग्रहण 16-17 जुलाई 2019 का राशिफल | Rashifal of Chandragrahan July 2019

चंद्रग्रहण 16-17 जुलाई 2019 का राशिफल | Rashifal of Chandragrahan July 2019 चंद्रग्रहण 16-17 जुलाई 2019 का प्रभाव विभिन्न राशियों पर अलग-अलग रूपों में दृष्टिगोचर होगा। राशि, ग्रह, नक्षत्र, पक्ष, वार, तिथि आदि का एक दूसरे से अन्योन्याश्रय सम्बन्ध है सभी एक दूसरे से दृष्टि, संयोग आदि के आधार पर विभिन्न राशियों के जातकों पर अपना-अपना प्रभाव डालते है। 16-17 जुलाई 2019 में होने वाले चंद्रग्रहण के समय चन्द्रमा मकर राशि में होगा। अतएव यह तो स्पष्ट है की ग्रस्तोदय चंद्रग्रहण का प्रभाव विशेष रूप से मकर, कर्क आदि राशि और नक्षत्र वाले जातकों के ऊपर अशुभ तथा अत्यंत ही कष्टमय होगा। 12 राशियों में किंच्चित राशियों पर चंद्रग्रहण का प्रभाव शुभ होगा तो कुछ राशियों पर अशुभ होगा।

चंद्रग्रहण का विभिन्न राशियों पर पड़ने वाले शुभ-अशुभ फल 

मेष राशि

इस राशि वाले वाले जातकों के ऊपर चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ होगा। मेष राशि वाले जातक रोग के प्रभाव में आ सकते है। शारीरिक कष्ट होगा तथा चिंता एवं भय का माहौल बना रहेगा। बिना संघर्ष के कोई भी कार्य होने की स्थिति में नहीं होगा। समस्याएं विकराल रूप धारण कर सकती है।अतएव धैर्य धारण करना ही श्रेष्ठकर होगा।

वृष राशि

इस राशि वाले वाले जातकों के ऊपर चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ तथा शुभ दोनों रूप में  होगा। मकर तथा वृष राशि का सम्बन्ध पंचम नवम होने से संतान कष्ट एवं संतान सम्बन्धी चिंताए बढ़ जाएगी। इसके अतिरिक्त नए कार्यो की सम्भावनाये बढ़ेंगी। पिता से सम्बन्धो में किंच्चित कड़वाहट आ सकती है।

मिथुन राशि 

इस राशि वाले  वाले जातकों के ऊपर चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ होगा। जातक को दुर्घटना का भय बना रहेगा अतः गाड़ी संभलकर चलाये। शत्रु अधिक प्रभावी हो जायेंगे। अनावश्यक खर्च अधिक बढ़ जायेगा। कार्यो में व्यवधान उत्पन्न होगा रिश्वत लेने वाले संभलकर रिश्वत ले या रिश्वत लेना बंद कर दे अन्यथा दंड के पात्र बन सकते है।

कर्क राशि

मकर तथा कर्क राशि का समसप्तक सम्बन्ध होने के कारण पति-पत्नी के सम्बन्धो में कटुता एवं अविश्वास का माहौल बना रहेगा। शारीरिक कष्ट बढ़ेगा। साझेदारी के कार्यो में व्यर्थ के तनाव हो सकते है।

चंद्रग्रहण 27 जुलाई 2018 का राशिफल | Rashifal of Chandragrahan July 2018

 सिंह राशि

सिंह राशि वाले जातकों के ऊपर इस चंद्र ग्रहण का प्रभाव अशुभ ही होगा। चंद्रग्रहण मकर राशि में घटित हो रहा है सिंह राशि से मकर राशि का स्थान षष्ठ है तथा मकर से सिंह राशि अष्टम है 6/8 का सम्बन्ध ज्योतिष में अच्छा नहीं माना जाता है एतदर्थ इस राशि वाले जातक रोग के प्रभाव में आ सकते है। किंचित आंतरिक चिंता बढ़ जाएगी। कार्य विलम्ब से होगा तथा कार्यस्थल पर भी समस्याएं आ सकती है।

 कन्या राशि

इस राशि वाले वाले जातकों के ऊपर चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ तथा शुभ दोनों रूप में  होगा। मकर तथा कन्या राशि का सम्बन्ध नवम-पंचम होने से संतान कष्ट एवं संतान सम्बन्धी चिंताए बढ़ जाएगी। इसके अतिरिक्त नए कार्यो की सम्भावनाये बढ़ेंगी। पिता के साथ रिश्तो में तनाव आ सकता है।

तुला राशि

इस राशि के जातको का भागदौड़ अधिक बढ़ जायेगा। मकर तुला राशि का चतुर्थ-दशम सम्बन्ध होने के कारण शुभ कार्यों के ऊपर खर्च बढ़ेगा। कार्यो का विस्तार होगा। पारिवारिक वृद्धि होगी।

वृश्चिक राशि

इस राशि वालों के लिए भी यह ग्रहण शुभ फल प्रदान करने वाला होगा। कार्यो में प्रगति होगी। नए कार्य के अनेक अवसर आएंगे तथा वह कार्य जो किसी कारणवश रुके हुए थे उस कार्य को करने के लिए आपमें उत्साह आएगा तथा कार्य शीघ्र ही पूरा हो जायेगा। जातक के पुरुषार्थ चतुष्टय (धर्म,अर्थ,काम और मोक्ष) में वृद्धि होगी।

धनु राशि

इस राशि वाले जातकों के ऊपर इस चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ ही होगा। मकर तथा धनु राशि का का सम्बन्ध द्विद्वादश 2/12 होने से धन की हानि होगी। सामान्य जीवन में खर्च अधिक बढ़ जायेगा। आपको व्यर्थ में यात्रा करनी पड़ेगी। सिंह राशि पर शनि की दृष्टि पड़ने से अशुभ कार्यो में या रोग आदि में व्यय करने पड़ सकते है।

मकर राशि

मकर राशि वालो का इस चंद्रग्रहण का फल विशेष रूपेण अशुभ एवं कष्टकारी होगा। शारीरिक कष्ट, शरीर में चोट लगना तथा मन में भय बना रहेगा। धन हानि की प्रबल संभावनाएं बनी रहेगी अतः सोच समझकर ही योजनाए बनाये। कार्यो में व्यवधान उत्पन्न होगा रिश्वत लेने वाले संभलकर रिश्वत ले या रिश्वत लेना बंद कर दे अन्यथा दंड के पात्र बन सकते है।

कुम्भ राशि

इस राशि वाले जातकों के ऊपर चंद्रग्रहण का प्रभाव अशुभ ही होगा। धन-हानि की संभावनाए शत प्रतिशत बनी रहेगी। पारिवारिक क्लेश एवं विचार भिन्नता के कारण घर में अशांति का वातावरण बना रहेगा।

मीन राशि

मीन राशि वाले जातकों के ऊपर इस चंद्रग्रहण का प्रभाव  शुभ होगा। धन धान्य की वृद्धि होगी। पारिवारिक सुख एवं सौहार्द बना रहेगा। कार्यो का विस्तार होगा। अपने परिश्रम से आप भाग्य का निर्माण करने में समर्थ होंगे।

ग्रहण के अशुभ प्रभाव का समाधान कैसे करें

जिस राशि के लिए ग्रहण का फल अशुभ होगा उस जातक को अपने सामर्थ्य के अनुसार ग्रह राशि(चन्द्रमा तथा राशि स्वामी बुध की) कारक वस्तुओ का दान करना चाहिए इससे जातक के ऊपर पड़ने वाले अशुभ प्रभाव को कम किया जा सकता है |

वही मंत्र एवं स्तोत्र का जप-पाठ करने से भी अशुभ प्रभाव कम हो जाता है।

ग्रहण के बाद औषधि स्नान करने से भी अशुभ प्रभाव को दूर किया जा सकता है।


सूर्य ग्रहण 1 सितम्बर 2016 का राशिफल

चंद्रग्रहण के समय क्या करें, क्या न करें | Chandra Grahan 2019

Leave a Comment

Your email address will not be published.