Life Line : जीवन रेखा

क्या कहती है आपकी हथेली की जीवन रेखा ( what say Life Line of your hand )

Life Line / जीवन रेखा मनुष्य के जीवनी शक्ति, उसकी परिश्रम की शक्ति के सामर्थ्य तथा उसकी सीमा के अतिरिक्त जीवन में घटी अच्छी या बुरी घटनाओं, जीवन में आने वाली बाधाओं और बाधाओं की आशंकाओ के साथ साथ शरीर में गुप्त रूप से पनप रहे रोग विशेष का ज्ञान कराती है विशेषतः लिवर, गले, फेफड़े, मूत्राशय से सम्बंधित रोग का।

जीवन रेखा को सामुद्रिक शास्त्र में पितृ रेखा के नाम से जाना जाता है। इसे आयु रेखा अथवा कुल रेखा भी कहा जाता है। अंग्रेजी में इसे लाइफ लाइन या वाइटल लाइन के नाम से जाना जाता है। हाथ की रेखाओं से हम सहज ही जीवन में होने वाली घटनाओं का पता लगा सकते है। हमारी हथेली में स्पष्ट रूप से दिखाई देने वाली चार रेखाओ में जीवन रेखा का महत्त्वपूर्ण स्थान है।

life line 2-min

Life Line / जीवन रेखा कहाँ से आरम्भ होती है ?

जीवन रेखा का उद्गम तर्जनी एवं अंगूठे के मध्य से होता है या यह कह सकते है की जीवन रेखा गुरु पर्वत के नीचे से तथा मंगल पर्वत के ऊपर से निकलता है। जीवन रेखा यहाँ से निकलकर शुक्र पर्वत को घेरती हुई मणिबंध के पास तक जाती है। मनुष्य के जीवन के लिए यह रेखा बहुत ही महत्वपूर्ण रेखा है कहा जाता है की यदि जीवन है तो सब कुछ है अन्यथा कुछ भी नहीं।

कैसी होनी चाहिए आपकी Life Line / जीवन रेखा

जो रेखा स्पष्ट गहरी, बिना किसी अवरोध के हो तथा उसका रंग त्वचा के रंग से गहरे लाल रंग के समान हो वही रेखा अच्छी रेखा मानी जाती है।जीवन रेखा तभी उत्तम मानी जाती है यदि उसे अन्य रेखा न काटती हो तथा वह लम्बी हो इसका अर्थ है कि व्यक्ति की आयु लम्बी होगी और उसका अधिकतर जीवन सुखपूर्वक बीतेगा। आप अपने हाथ खोलकर यह देख सकते है आपके जीवन रेखा स्पष्ट है अथवा नहीं और यदि कही रुकावट या रेखा में टूट है तो समझे की जीवन के उस वर्ष में कोई परेशानी आ सकती है। रेखा छोटी तथा कटी होने पर आयु कम एवं जीवन संघर्षमय होगा ।

Life Line / जीवन रेखा किससे प्रभावित होती है

जीवन रेखा गुरु तथा मंगल क्षेत्र के प्रभाव के साथ शुक्र क्षेत्र से विशेषतः प्रभावित होती है। गुरु (Jupiter ) क्षेत्र जहाँ ज्ञान तथा न्याय से व्यक्ति को जाोड़ता है तो मंगल (Mars) क्षेत्र का प्रभाव व्यक्ति में साहस और उत्साह भरता है। वही शुक्र (Venus) क्षेत्र का प्रभाव व्यक्ति में काम वासना विषयभोग, कला के प्रति प्रेम, सौंदर्यप्रियता, भौतिकता, अभिनय जीवन जीने के प्रति उत्साह का सृष्टि करता है।

life line-min

अपनी हथेली में देखें आपका जीवन रेखा कैसा है ?

आप अपने हथेली को खोल लें और तर्जनी तथा अंगूठे के बीच से निकलने वाली वह रेखा जो अंगूठे से ज्यादा नजदीक से निकल रही है को देखे की कहा जा रही है सामान्यतः यह रेखा शुक्र पर्वत को घेरते हुए मणिबंध तक जाती है अब सबसे पहले देखना यह है की यह रेखा कैसा है यदि स्पष्ट गहरी काम चौड़ी तथा लालिमा लिए हुए है तो यह रेखा आपके अच्छे स्वास्थ्य, लम्बी आयु वा पूर्णायु , जीवन के प्रति उत्साह, प्रसन्न चित्त तथा साहस को दर्शाता है और यदि यह रेखा अस्पष्ट है धुंधली है, कमजोर है, टुटा-फूटा है या अन्य कई रेखाएं आकर मिल रही है तो यह मध्यायु, अस्वस्थता, पेट सम्बन्धी परेशानी तथा पारिवारिक परेशानी की सूचना देती है अतः अपने आप में तुरंत सुधार करने के उपाय सोचनी शुरू कर देनी चाहिए।

जीवन रेखा के सम्बन्ध में महत्त्वपूर्ण बातें

  • यदि आपकी जीवन रेखा एकदम पतली और है तो यह रेखा आपके ख़राब स्वास्थ्य तथा अचानक दुर्घटना की ओर संकेत करती है।
  •  छोटी जीवन रेखा कम आयु बताती है। परन्तु यदि जीवन रेखा छोटी है और भाग्य रेखा ह्रदय रेखा मजबूत है तो अपनी आयु कम समझने का भूल नहीं करना चाहिए।
  • लम्बी तथा गहरी जीवन रेखा जातक को दीर्घायु बनाती है।
  • यदि जीवन रेखा बहुत ज्यादा छिन्न-भिन्न है तो यह किसी दुर्घटना या अचानक बीमार होने का संकेत करती है।
  •  यदि आपकी रेखा गहरी लाल रंग की हो तो ऐसा व्यक्ति अत्यधिक गुस्सा वाला होगा और यदि मंगल पर्वत उन्नत हो तो क्या कहना गुस्सा में हत्या भी कर सकता है।
  • जिस व्यक्ति की जीवन रेखा पीली आभा लिए हुए हो तो उस जातक को एनिमिया या पीलिया की बीमारी हो सकती है।
  • जीवन रेखा पर जितनी बार क्रॉस होगा उस जातक को जीवन में उतनी ही बार शारीरिक परेशानी से गुजरना पड़ सकता है।
  • यदि जीवन रेखा को बारीक-बारीक रेखाएँ काटती हो तो उस जातक को अवश्य ही पारिवारिक जीवन में कष्टों का सामना करना पड़ सकता है।
  • यदि लाइफ लाइन पर बिन्दु हो या कटी रेखा भी हो तो उस जातक की मृत्यु हार्टअटैक से हो सकती है।
  • जीवन रेखा से निकलकर कोई शाखा बुध पर्वत की ओर जाए तो वैसा व्यक्ति व्यापारी होता है और व्यापार के क्षेत्र में सफलता प्राप्त करता है।
  • जीवन रेखा पर गोल सर्कल, तारा का निशान, काला तिल आदि का निशान हो तो यह अच्छा नहीं है इसे  किसी दुर्घटना का संकेत समझे।

1 thought on “Life Line : जीवन रेखा”

Leave a Comment

Your email address will not be published.