शनि गोचर 2020 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra

शनि गोचर 2020 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra तुला राशि वालो के लिए शनि पाँचवे ( संतान घर) और चतुर्थ भाव का स्वामी होकर चतुर्थ भाव में गोचर ( Transit in Fourth house) करेंगे। तुला लग्न वालों के लिए शनि पंचम भाव का स्वामी होकर चतुर्थ भाव भाई-बंधू, घर-परिवार के घर में भ्रमण करेंगे इस कारण संतान को लेकर परिवार और कुटुंब में परेशानी आ सकती है।

सामान्य फल | General Prediction

आपकी राशि या लग्न से चौथे स्थान में शनि  का गोचर हो रहा है, यह स्थान माता, कुटुंब, सुख, हृदय,  चल अचल संपत्ति, वाहन आदि से संबंधित है। इसलिए शनि का गोचर आपको मानसिक रूप से व्यथित/ परेशान करेगा। आपकी अवांछित इच्छाये बढ़ेंगी जिसकी पूर्ति न होने पर बेचैनी महशुस करेंगे। इस समय आप अधिक स्वार्थी हो जाएंगे।

इस समय आपको क्रोध बहुत आ सकता है अतः गुस्सा को नियंत्रण करना जरूरी होगा।  छोटी – छोटी बातों पर आप भड़क उठेंगे।  वाहन दुर्घटना का योग बन रहा है अतः वाहन संभलकर चलाये साथ ही रोड रेज से जरूर बचे अन्यथा केश मुकदमा भी भी हो सकता है।

शत्रुओं पर आपका नियंत्रण बना रहेगा। अल्पकाल के लिए चिंताएं हो सकती है। परंतु शीघ्र ही समस्याओं का समाधान होगा। कार्य की अधिकता आपको थकान का अनुभव करा सकती है। खान-पान में नियमितता बनाये रखे।

शनि गोचर 2020 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra

पारिवारिक एवं दाम्पत्य जीवन | Family Life 

तुला लग्न अथवा राशि के जातकों के लिए शनि पंचम और चतुर्थ भाव का स्वामी होकर चतुर्थ भाव में प्रवेश करेंगे इस स्थान से शनि की दृष्टि आपके छठे, दशम तथा लग्न  भाव पर है जिसके फलस्वरूप आपके गुप्त शत्रु परास्त होंगे आपमें प्रतियोगिता की भावना बढ़ेगी।  आप  लोन लेकर घर बनाने या खरीदने में सक्षम होंगे।

माता – पिता के स्वास्थ्य तथा उनके साथ संबंधों को लेकर आप कुछ परेशान भी रहेंगे। प्रेम सम्बंध में शारीरिक सुखोपभोग को लेकर आपको अपमानित भी होना पर सकता है या सम्बन्ध में दरार आ सकती है।

मकान, वाहन तथा पैतृक संपत्ति के मामलों में रूकावट आएगी अतः इनसे सम्बंधित कार्यों में सफलता के लिए बहुत और निरंतर प्रयास करते रहना पडेगा।  पारिवारिक सुख में आप कुछ कमी महसूस करेंगे। आपको संतान प्राप्त होगा। संतान सुख के साथ ही साथ नौकरी का सुख भी मिलेगा। भूमि संबंधी मामले जो कोर्ट-कचहरी में चल रहे हों, उनमें सफलता प्राप्त होगी।

शनि गोचर 2020 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra

स्वास्थ्य | Health 

शनि आपके चतुर्थ स्थान में भ्रमण करेंगे इस कारण यदि आप पहले से ह्रदय रोगी ( Heart patient ) हैं तो हमेशा अपने पारिवारिक डॉक्टर के संपर्क में रहना ठीक रहेगा। घर परिवार को लेकर मानसिक तनाव हो सकता है जिसके कारण डिप्रेशन जैसी परेशानी हो सकती है।

व्यवसाय एवं आर्थिक क्षेत्र | Business and Economic Status

आर्थिक मामलों में उतार चढाव दोनों का ही सामना करना पड़ेगा अर्थात स्थिरता में कमी रहेगी , कुछ लोगों को अपने घर से दूर जाने की स्थिति भी बनेगी। कोई नया काम भी प्रारम्भ कर सकते है। इस कार्य आपको अपने परिवार से सहयोग भी लेना पर सकता है यही हो सकता है की अपने घर से ही कोई व्यवसाय को आप शुरुआत करे। आपके रूके हुए कार्य बनेंगे परन्तु आपको धैर्य धारण करना पड़ेगा।

यदि नौकरी की तलाश कर रहे है तो प्रतियोगिता परीक्षा ( Competitive Exam ) या इंटरव्यू के माध्यम से आपको सफलता मिलेगा।  यही समय है जब आप अपने लिए कुछ करना आरम्भ कर देंगे।

यदि आपकी कुंडली में अशुभ ग्रह की दशा या अंतरदशा चल रही है तो निश्चित ही कार्यो में बहुत रूकावट आएगी। आप धैर्य से काम ले सब कुछ धीरे धीरे सामान्य हो जाएगा।

 शनि गोचर 2017 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra शनि गोचर 2019 का तुला राशि पर प्रभाव | Saturn Transit Effects on Libra तुला राशि तथा लग्न वाले जातक के लिए शनि पाँचवे ( संतान घर) और चतुर्थ ( कुटुंब, माता तथा मकान  ) भाव का स्वामी होकर तृतीय भाव पराक्रम में गोचर ( Transit in Third house) करेंगे। तुला लग्न वालों के लिए शनि योगकारक ग्रह है और तृतीय भाव जो पराक्रम, परिश्रम, भाई और लघु यात्रा का घर है में भ्रमण करेंगे इस कारण आपको यात्रा का योग बनेगा।

इस समय आपकी साढ़े साती ( Shani ki Shadhe saati ) भी समाप्त हो रही है अतः आप अपने आप में शकुन महशुश करेंगे और पराक्रम के बल पर भविष्य की योजनाए बनाने में सफल होंगे।

सामान्य फल | General prediction

यह जानकार आपको हर्ष होगा की शनि के धनु में गोचर के साथ ही साढे सात साल से चली आ रही परेशानी और कष्ट की स्थिति समाप्त होगी और आप स्वयं को अच्छा महसूस करने लगेंगे। शनिदेव अब आपके दूसरे भाव से तीसरे भाव में प्रवेश करेंगे। तुला लग्न के जातकों के लिए शनि का यह राशि परिवर्तन अत्यन ही शुभ और फलदायक है। यदि कोई शत्रु है तो परास्त होंगे।

शनि इस राशि के पराक्रम भाव में बैठा है। इस घर को क्रूर व अशुभ ग्रहों के लिए अच्छा स्थान माना जाता है। अत: आपको इस गोचर का शुभ फल प्राप्त होगा।आप जितना मेहनत करेंगे उसके अनुरूप जरूर ही फल मिलेगा अपने काम को लेकर सतर्क रहें और दूसरों को शिकायत का मौका न दें।

Leave a Comment

Your email address will not be published.