विघ्नहर्ता श्री गणेश चतुर्थी व्रत तिथि 2020

विघ्नहर्ता श्री गणेश चतुर्थी व्रत तिथि 2020. श्री गणेश चतुर्थी व्रत का भारतवर्ष में विशेष महत्त्व है कहा जाता है की इस व्रत को करने से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। यदि किसी कार्य में आपको सफलता नहीं मिल रही है या कार्य के पूर्णता में संदेह है तो श्री गणेश चतुर्थी का व्रत करने से अवश्य ही सफलता मिलती है। यह व्रत पुण्य फल प्रदान करता है। इस व्रत को करने से व्यक्ति को जन्म-मरण से मुक्ति मिलती है।

भारतीय हिन्दू कैलेण्डर में प्रत्येक चन्द्र मास में दो चतुर्थी तिथि होती हैं। एक पूर्णिमा के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि जिसे संकष्टी चतुर्थी भी कहते हैं तथा दूसरा अमावस्या तिथि के पश्चात् आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी कहा जाता हैं।

संकष्टी चतुर्थी का व्रत प्रत्येक मास में होता है परन्तु माघ और पौष मास में पड़ने वाली संकष्टी तिथि का विशेष महत्त्व है। यदि संकष्टी चतुर्थी संयोग से मंगलवार के दिन पड़ती है तो उसे अंगारकी चतुर्थी कहा जाता है तथा इस तिथि बहुत ही शुभ और कल्याणकारी माना जाता है। यह व्रत विशेष रूप से महाराष्ट्र और तमिल नाडु में विशेष रूप प्रचलित है। वर्तमान समय में यह व्रत सम्पूर्ण भारत में प्रचलित हो गया है।

गणेश चतुर्थी व्रत का महत्व

गणेश चतुर्थी व्रत के दिन पूजा- अर्चना और व्रत करने से गणेश जी भक्तों के समस्त संकट शीघ्र ही दूर कर देते हैं। इस दिन जो भक्त पूरी श्रद्धा व विश्वास के साथ उपवास करता है, उसे गणेशजी ऋषि-सिद्धि प्रदान करते है साथ ही जीवन यात्रा में आने वाली समस्त विध्न बाधाओं का शीघ्र ही नष्ट कर देते हैं। इस दिन भक्त को रात्री में चन्द्रमा के उदय होने के बाद ही भोजन करना चाहिए। चन्द्रमा को अर्ध्य देते समय अपनी दृष्टि नीचे की ओर रखना चाहिए क्योकि इस दिन चन्द्रमा को देखना शुभ नहीं माना जाता है।

साल 2020 में आने वाली चतुर्थी तिथियां

दिनाँकमहीनादिनव्रत नामचन्द्रोदय काल
13जनवरीसोमवारसकट चौथ 20:33
12फरवरीबुधवारसंकष्टी चतुर्थी21:37
12मार्चबृहस्पतिवारसंकष्टी चतुर्थी21:31
11अप्रैलशनिवारसंकष्टी चतुर्थी22:31
10मईरविवारसंकष्टी चतुर्थी22:19
08जूनसोमवारसंकष्टी चतुर्थी21:57
08जुलाईबुधवारसंकष्टी चतुर्थी22:00
07अगस्तशुक्रवारबहुला चतुर्थी 21:37
05सितम्बरशनिवारअंगारकी चतुर्थी 20:37
05अक्टूबरसोमवारसंकष्टी चतुर्थी20:13
04नवम्बरबुधवारकरवा चौथ 20:12
03दिसम्बरबृहस्पतिवारसंकष्टी चतुर्थी19:51

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.