चन्द्रमा प्रथम भाव में | Moon in First House

Moon in first houseचन्द्रमा प्रथम भाव में | Moon in First House में हो तो व्यक्ति पराक्रमी और राजवैभव को प्राप्त करनेवाला होता है। ऐसा व्यक्ति बहुत ही भावुक और संवेदनशील होता है। व्यक्ति सुन्दर और चंचल होता है। व्यक्ति में सृजनात्मक तथा रचनात्मक कार्यों मे विशेष रूप से रुचि होती है। प्रथम भाव का चन्द्रमा व्यक्ति को कल्पनाशील बना देता है।

चन्द्रमा प्रथम भाव में विदेश यात्रा देता है | Moon in first house gives foreign travel

चन्द्रमा प्रथम भाव में (Moon in first house) जातक घूमने फिरने का शौक़ीन होता है। वह अपने जीवन काल में अनेक यात्रायें करता है। विदेश यात्रा भी करता है। यदि व्यक्ति गांव का रहने वाला है तो अपने देश के ही बड़े नगर की यात्रा अवश्य ही करता है। चन्द्रमा यदि द्विस्वभाव राशि में हो तो ऊपर लिखा फल अवश्य ही मिलता है। क्योकि ऐसा जातक प्रवासी, अस्थिर बुद्धि, विलासी, शान्त, दयालु मिलनसार स्वभाव का, मोहक, उदार और सज्जन होता है। यह स्त्रियों और मित्रों का प्यारा होता है। ऐसा ब्यक्ति सामाजिक कार्यो में रूचि लेता है। और बहुजन समाज में विशेषतः नीच वर्ग के लोगो में इसे अच्छा सम्मान मिलता है।

चन्द्रमा प्रथम भाव में (Moon in first house) हो तो जातक को जल/पानी से डर लगता है और उसे पानी जैसे नदी, तालाब समुद्र आदि से बचकर रहना चाहिए। ऐसे जातक को रोग से भी बहुत डर लगता है। इस भाव का चन्द्रमा यदि बलवान हो तो व्यक्ति बहुत ही चतुर और धूर्त होता है। इसे स्त्री /पत्नी वियोग भी सहन करना पड़ सकता है।

राशि के अनुसार चन्द्र फल | Moon result according to sign

चन्द्रमा प्रथम भाव में (Moon in first house) यदि कर्क,वृष, अथवा मेष राशि में हो तो मनुष्य चतुर, रूपवान, कामी,धनी, ऐश्वर्य से युक्त तथा भोग भोगनेवाला होता है। अन्य राशियों में हो तो व्यक्ति मुर्ख,रोगी तथा निर्धन होता है। इसे पशुओ से चोट लगने का भय होता है। ऐसे जातक को खासी, श्वासरोग तथा वातरोग होने की प्रबल सम्भावना होती है।

1 thought on “चन्द्रमा प्रथम भाव में | Moon in First House”

  1. I want to settle in foreign. My dob is 06/11/1973 at 13:40 p.m. in Kanpur. Is it possible then when Anson which direction.

Leave a Comment

Your email address will not be published.