कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान | Mangalik dosh and solution

 कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान | Mangalik dosh and solution कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान | Mangalik dosh and solution.  मंगल दोष | कुज दोष | भौम दोष | मंगली दोष तब होता है जब मंगल 1,4,7,8 और 12 भाव में स्थित हो। विवाह गृहस्थाश्रम की आधारशिला है विवाह के माध्यम से मनुष्य देव-ऋषि एवं पितृ ऋण सेमुक्त होकर परम कल्याण को प्राप्त होता है।  विवाह सम्बन्ध करने से पहले लडके-लड़कियों के गुण  का मिलान किया जाता है ताकि वैवाहिक जीवन सुखमय हो। गुण मिलान के क्रम में कुंडली में मंगल दोष का भी निर्धारण किया जाता है कहा जाता है कि यदि आपकी जन्म कुंडली में मंगल दोष  है और मांगलिक दोष के परिहार के बिना शादी की जाती है तो निश्चय ही अनिष्ट होता है।  वैवाहिक संबंधों  में  कोई न कोई बाधा उत्पन्न हो जाता है और कई बार तो मृत्यु जैसी घटनाओं का सामना करना पड़ता है। वस्तुतः इस प्रकार की घटनाएं तो होती है परन्तु इनके पीछे केवल मांगलिक दोष को कारण बताना उचित नहीं है क्योकि कुंडली में मंगल दोष के अतिरिक्त अन्य भी दोष होता है जिसे सामान्यतः नजरअंदाज किया जाता है।

वास्तव में ज्योतिष के पुजारी कुंडली में मंगल दोष को ही देखते है उसके परिहार को नहीं और  इतना बढ़ा चढ़ाकर बताते है कि व्यक्ति सुनकर ही घबड़ा जाता है और बिना सोचे समझे कह देते है कि यदि आपकी कुंडली में मांगलिक दोष है तो मैं अपनी लड़की अथवा लडके की शादी नहीं कर सकता इत्यादि इत्यादि।

वास्तव में इस तरह के भय का माहौल बनाकर ज्योतिषी लोग अपने स्वार्थ की तो  पूर्ति करते हैं परन्तु इसके दूरगामी परिणाम पर विचार नहीं करते है। अतः मांगलिक दोष और उस दोष का परिहार हमें उसी जन्मकुंडली में ढूंढना चाहिए अवश्य ही कोई रास्ता निकल आएगा।

क्या है कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान

विवाह के योग्य वर और वधु  की जन्मकुंडली में गुण मिलान के बाद कुंडली में मांगलिक दोष पर विचार किया जाता है मांगलिक दोष के सम्बन्ध में शास्त्रों में कहा गया है –

लग्ने व्यये च पाताले जामित्रे चाष्टमे कुजे। 

कन्या भर्तुविनाशाय भर्ता कन्या विनाशकः।।

अर्थात यदि किसी जातक की जन्मकण्डली में लग्न (प्रथम भाव) , पाताल(चतुर्थ भाव), जामित्र (सप्तम भाव ), अष्टम भाव तथा व्यय (द्वादश भाव), में मंगल बैठा हो तो  मांगलिक दोष कहलाता है यह दोष होने पर कन्या अपने पति के लिए तथा पति कन्या के लिए घातक होता है।

मंगल की यह स्थिति विवाह के लिए बहुत ही अशुभ मानी जाती है। दाम्पत्य संबंधों में तनाव व बिखराव, कार्य में बेवजह बाधा और असुविधा, घर में कोई अप्रिय घटना तथा किसी भी प्रकार की क्षति और पति-पत्नी की असामायिक मृत्यु का कारण मंगल दोष को माना जाता है।

अगर आपके कुंडली में मंगल इन स्थान विशेष में बैठा है तो आप मांगलिक है अब आपको इस पर विचार करना चाहिए की यह दोष कितना बलि है क्या शास्त्र में दिए गए मांगलिक दोष  का परिहार हमारे कुंडली में लागू हो रहा या नहीं।

कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान | Mangalik dosh and solution

 

यदि आपकी कुंडली में दिखाए गए स्थान/ भाव में मंगल स्थित है तो आप मांगलिक है

आइये जानते है कुंडली में मांगलिक दोष का परिहार कब होता है

मंगली दोष परिहार के नियम

जन्मकुण्डली के प्रथम, द्वितीय, चतुर्थ, सप्तम, अष्टम तथा द्वादश् भाव में से किसी भी भाव में मंगल बैठा है तो वह वर-वधू के लिए घातक होता है किन्तु इन भावों में बैठा हुआ मंगल यदि स्वक्षेत्री अर्थात अपने ही घर में हो जैसे मंगल मेष तथा वृश्चिक राशि में हो तो दोषकारक नहीं होता है।

मंगल दोष वाली कन्या का विवाह मंगलीक दोष वाले वर के साथ करने से मंगल का अनिष्ट दोष समाप्त हो जाता है तथा वर- वधू के मध्य दाम्पत्य सुख बढ़ता है –

कुज दोष वती देया कुजदोषवते किल I

नास्ति दोषों न चानिष्टम् दम्पत्यो: सुखवर्धनम् II

यदि आपके जन्मकुण्डली में मंगल प्रथम भाव (लग्न) में मेष राशि का हो, चतुर्थ भाव में वृश्चिक राशि का हो, सप्तम भाव में मीन राशि का हो, अष्टम भाव में कुम्भ को हो तथा द्वादश भाव में धनु राशिका हो तो मांगलिक दोष नहीं लगता है।

 

अजे लग्ने व्यये चापे पाताले बृश्चिके कुजे I

द्यूने मृगे कर्किचाष्टौ भौमदोषों न विद्यते II

यदि जन्मकुण्डली में लग्न (प्रथम), चतुर्थ, सप्तम, अष्टम या द्वादश भाव में शनि बैठा हो तो मंगल दोष नहीं लगता है। ।

यामित्रे च सदा सौरि लग्ने वा हिषुके तथा I

अष्टमे द्वादशो चैव भौमदोषों न विद्यते II

केन्द्र और त्रिकोण भावों में यदि शुभग्रह हो तथा तृतीय, षष्ठ एवं एकादश भावों में पापग्रह हो तथा सप्तमभाव का स्वामी सप्तम भाव में बैठा हो तो मंगली दोष नहीं लगता है।

 केन्द्र कोणे शुभादये च त्रिषडायेSप्यसद्ग्रहा: I

 तदा भौमस्य दोषो न मदने मदपस्तथा II

यदि लड़का तथा लड़की दोनों की जन्मकुण्डली में मंगल, शनि अथवा कोई अन्य पापग्रह एक ही जैसी स्थिति में बैठे हों अर्थात एक ही स्थान जैसे लड़का की कुंडली में मंगल सप्तम भाव में है और लड़की की भी कुंडली में मंगल सप्तम भाव में है तो मंगली दोष दूर हो जाता है। ऐसा विवाह शुभप्रद, दीर्घायुष्य देने वाला तथा पुत्र पौत्रदायक होता है।

शनि भौमोSथवा कश्चित् पापो वा तादृशो भवेत् I

तेष्वेव भवनेष्वेव भौमदोष विनाश कृत् II

भौमेन सदृशो भौम: पापो व तादृशो भवेत् I

विवाह: शुभद: प्रोक्तश्चिरायु: पुत्रपौत्रद: II

यदि आपकी कुंडली में दूसरे भाव में चन्द्र- शुक्र का योग हो, या गुरु मंगल को देख रहा हो तथा केन्द्र स्थान में राहु हो अथवा राहु- मंगल का योग हो, तो मंगल दोष नहीं होता है।

न मंगली चन्द्र भृगु द्वितीये, न मंगली पश्यति यस्य जीवा I 

न मंगली केन्द्रगते च राहु:, न मंगली मंगल- राहु योगे II

यदि यदि आपकी कुंडली में १, २, ४, ७, ८, ११ और १२वें स्थान में  मंगल स्थित है तो दोनों के  वैवाहिक जीवन में परेशानी उत्पन्न करता है परन्तु यदि मंगल अपने घर मेष, वृश्चिक का हो अथवा    उच्च का हो(मकर में) या मित्र के घर में हो तो मंगल दोष नहीं लगता है।

तनु धन सुख मदनायुर्लाभ व्ययग: कुजस्तु दाम्पत्यम् I

विघट्यति तद् गृहेशो न विघटयति तुंगमित्रगेहेवा II

यदि वर और कन्या की जन्म कुण्डलियों में परस्पर राशि मैत्री हो, गण दोष न हो, तथा 27 गुण अथवा उससे अधिक गुण का मिलान हो तब भी मंगल दोष का विचार नहीं करना चाहिए।

राशिमैत्रं यदा याति गनैक्यं वा यदा भवेत् I

अथवा गुण बाहुल्ये भौम दोषो न विद्यते II

  1. यदि जन्मकुंडली में मंगल दोष  है परन्तु मंगल को शनि देख रहा हो तो मंगल दोष समाप्त हो जाता है.
  2. मंगल जिस राशि में बैठा है उस राशि का स्वामी यदि उच्च होकर केंद्र या त्रिकोण में बैठे है तो भी मंगल दोष समाप्त हो जाता है।
  3. मकर लग्न में मंगल लग्न में उच्च होकर बैठा है और सप्तम स्थान में कर्क राशि का चंद्र हो तो मंगल दोष नहीं होता।
  4. कहा जाता है कि आयु के 28वें वर्ष के बाद  पश्चात मंगल दोष  समाप्त हो जाता है  परन्तु  ऐसा नहीं है मंगल अपना कुप्रभाव अवश्य ही दिखलाता है।
  5. यदि आपकी जन्मकुंडली वृष, मिथुन, सिंह तथा वृश्चिक लग्न की है तो मंगल दोष नहीं लगता है।

उपर्युक्त कुंडली में मंगल दोष विचार में मंगल दोष के परिहार की बात कही गई है यह परिहार भी मांगलिक दोष का पूर्ण समाधान नहीं करता है इसका मुख्य उदाहरण है भगवान श्री रामजी की जन्मकुण्डली इनकी कुंडली में मंगल सप्तम भाव में उच्च होकर स्थित है सप्तम में मंगल होने से मंगल दोष तो है साथ ही मंगल उच्च का होने से परिहार भी है वही उच्च्स्थ राशि का स्वामी शनि भी उच्च होकर केंद्र में स्थित है तथा मंगल पर उच्च के गुरु की भी दृष्टि है फिर भी रामजी का सीताजी से वियोग हुआ।

यह भी जाने ! कुंडली में भकूट दोष और उसका परिहार

अतः मेरा सभी मांगलिक जातक से अनुरोध है कि आप अपने दाम्पत्य जीवन में विवेक का परिचय दे क्रोध पर नियंत्रण रखे, एक दूसरे के भावना को समझे, एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप से बचें बुद्धि का परिचय दे नियमित हनुमान चालीसा का मृत्युपर्यन्त पाठ करें सभी समस्या का अपने आप समाधान हो जाएगा।

कुंडली में मंगल दोष का समाधान कुम्भ / घट / केला अथवा तुलसी विवाह  के माध्यम से किया जाता है और इसका फल भी शुभ देखा गया है। 

33 thoughts on “कुंडली में मंगल दोष और उसका समाधान | Mangalik dosh and solution”

  1. Pingback: चतुर्थ भाव में मंगल का फल | Mars in Fourth House

  2. Pingback: अष्टम भाव में मंगल का फल | Mars in Eighth House

  3. Abhimanyu Singh Rathore

    Guruji me abhimanyu Singh Rathore hu me shivangini shaktawat name ki ek ladki se shadi karna chahta hu, Guruji please aap muje btaye ki hamari shadi ho sakti he ya nhi. Guru ji jaldi reply dijiyega plz. Koi pareshani or uska solution bhi ho to please aap muje bataye.

    Abhimanyu Singh Rathore (abhi)
    (dob = 05/07/1997)
    (time of birth = 5:15 am)
    (place = khariya – mithapur, jodhpur )

    Shivangini shaktawat (megha)
    (dob=18/08/1995)
    (time of birth =4:25 am)
    (place = बदनोर, bhilwara)

    1. Jam date 10.8.1999 time 12:22 h or kudli me magal dosh h ,koi upay bataye,ladka 19.12.1993 time 4:45am h

  4. Ladka mangalik h dob 20 may 1986 jhansi time 6.15am aur me non mangalik 21jan1988 itarsi time sham 7.30pm ..kya hm shadi kr sakte h..plz its urgent ..gv me ans..plz

  5. Sir mera name rakesh singh hai…..mera native place u.p Ghazipur me hua hai ……….mera d.o.b 8.2.92 aur timing 8_9 a.m ke beech hai sir mai manglik hu aur upay bataye aur mai mera jeevan ke bare me batay

  6. Sir mere dob 3-3-1997 hai time 7ya 7:30 hai mai manglik hu koi upay btae.please sabhi pandit bolte h ki mere jivan m samsya aaegi. Or m job na karu.
    Aap ager kch madad kr skte h to m bht bht abhari hu

  7. Sir mere dob 3-3-1997 hai time 7ya 7:30 hai mai manglik hu koi upay btae.please sabhi pandit bolte h ki mere jivan m samsya aaegi. Or m job na karu.
    Aap ager kch madad kr skte h to m bht bht abhari hu.. Mai.hisar haryana ki rhne wali.hu

    1. yesa koi nahi hai jiske jivan me koi smssyaa nahi hai . aap mangalik hai to kya hua har 20 kundali me 5-6 horoscope mangalik hota hai . shadi jb kare to mangalik ladkii se shadi kare.

  8. girl ke 12ve me mangal or boy ke 4 me mangal he

    boy ko nimn mangal
    girl ko strong mangal he
    to koi upaya bataiya jisse vivah bhi ho jaye or sukhi zivan vyatit ho
    app plz help kiiye

  9. Namste meri dob 27.06.1997 dot. 12am hai meri kundlime shayd mangl hai kya mai non manglik se shadi kar sakti hu hame shadi karni hai uska nam nandkishor hai aur dob. 17.10.1992 dot.7.53am plz bataiye mai uski life mai ane ke bad usaki life mast ho gai hai job bhi achhi mili hai aur o bhi ye manta hai aur apni mammi papase behad pyar karta hai tohame problem hogi o shadi ke liye nahi bolenge to hame shadi karni hai upay bataye plz

      1. HLO SIR PLZ HELP ME I WANT TO ASK U ONE QUESTIONS I WANT TO MARRIED AN GUY KYA HUMDONO KA KUNDALI MATCH HAI KYA HUM SHADDI KAR SAKTE HAI PLZ RPLY KIJIYE TAB MAI KUNDALI DETI HU APKO SIR PLZ

  10. Namaskar pandit ji..

    Main ek strong manglik hu..main mere ek problem ka solution chahti hu.. kripya aap meri help kare..

    mera naam- Renuka Shaw
    DOB-19-05-1995
    time-10.40pm
    place-Cuttack,Odisha

    main ek ladke se shaadi karna chati hu jinka naam hai..

    Name-Sangram Kishor Behera
    DOB-15-04-1994
    time-11.55pm
    place- Talcher, Odisha

    me hum dono ki kundli bahut se local pandit ko dikha chuki hu.. lekin koi uapay ni mil rha hai hamari shaadi ka.. sab taraf se na sun chuki hu.. aakhir me aapke pass ek asha liye ayi hu.. please pandit ji.. meri iss problem pe apni nazar dale aur koi uapay bataye ki hamari shaadi kese achi tarah se ho sake..please pandit ji.. ek baar reply dijiyega.. bahut dukhi hu..koi uapay bataiye jisse mera maanglik dosh hamare shaadi me rukawat paida na kare.. aur hamari married life ache se bit jaye..

    Pranam pandit ji..

  11. sir merry sister ka name – pooja gupta
    date of birth – 10/02/1990
    birth time – 1:30 pm.
    birth place – gursayganj (farkhabad)
    sir muje ye pta krna h kya meri sister ki kundli me mangal dosh h…

  12. sir meri rashi kumbh hai or rashi swami shani hai kya meri sadi manglic ladhke se ho skti hai ? koi upay btaye?

  13. I have seen many couple , one is manglik other one is non-mangalik and surviving their married life happily.

    Why it is important to study manglik dosh and perform it remedy?

    I have research on number of website about this fact.
    http://bit.ly/2IexuWH

  14. Sir my name pooja date of birth 4-11-1991or time 11:50 pm place khndwa..sir meri shadi is boy se ho skti h unka date of birth 23-12-1992 or time 5:30Am place shikohabaad.me nimn manglik hu wo high manglik h.sir plz dekh kr btaiye.

  15. My birth date is 30-08-1988. I have mangal in 8th position of my kundali. Do we have some solutions for the dosha

  16. अखिलेश मेहरा

    sir ,
    उच्च मंगल दोष तथा निम्न मंगल दोष में क्या अंतर है। इसके बारे में ई कृपया सूचित करें।
    धन्यवाद

  17. Sir muje v apse kuch puchna h
    Pooja jain
    D.o.b.- 12-10-1994
    Time – 1:30 am
    Place – vidisha

    Rohit gupta
    D.o.b – 31-10-1994
    Time – 7:30 am
    Place – babina

    Plz sir muje btaiye na hmari sadi me koi problem to ni aygi na

  18. Jam date 10.8.1999 time 12:22 h or kudli me magal dosh h ,koi upay bataye,ladka 19.12.1993 time 4:45am h

  19. आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है, बहुत अच्छे तरीके से हर बात को समझाया है।

    आपकी हरेक बात आसानी से समझ में आ गई है।

    मेरा भी एक blog है, http://www.finoin.com जिसमे Share market and Mutual funds Investment की जानकारी प्रदान किया जाता है।
    धन्यवाद…

Leave a Comment

Your email address will not be published.